कोरोना की दूसरी लहर है खतरनाक ख़ास कर युवा हो जाए सावधान !

देश में इन दिनों कोरोना के भयानक स्थति ने सभी को हिला कर रख दिया है पिछली बार जब इस संक्रमण ने देश चपेट में लिया तो उस दौरान ज्यादातर बुजुर्ग इस महामारी के चपेट में आए लेकिन इस बार की कोरोना की ये लहर ज्यादातर युवाओ को चपेट में ले रहा है | दरसअल युवाओ की संख्या जितनी संक्रमण में सामने आ रही है उतनी ही इस संक्रमण से मरने वालो की संख्या भी काफी है | वैसे इस महामारी के संक्रमण की जद में लगभग सभी आ चुके है |

कोरोना की दूसरी लहर है खतरनाक ख़ास कर युवा हो जाए सावधान !

देश में इन दिनों कोरोना के भयानक स्थति ने सभी को हिला कर रख दिया है पिछली बार जब इस संक्रमण ने देश चपेट में लिया तो उस दौरान ज्यादातर बुजुर्ग इस महामारी के चपेट में आए लेकिन इस बार की कोरोना की ये लहर ज्यादातर युवाओ को चपेट में ले रहा है | दरसअल युवाओ की संख्या जितनी  संक्रमण में सामने आ रही है उतनी ही इस संक्रमण से मरने वालो की संख्या भी काफी है | वैसे इस महामारी के संक्रमण की जद में लगभग सभी आ चुके है | वही कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि ज्यादातर युवा जांच कराने और अस्पताल जाने में लापरवाही करते हैं इस वजह से ही संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है और रिकवरी होने में भी परेशानी होती है।



इसलिए कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण के लिहाज से सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों में निःशुल्क कोरोना जांच की व्यवस्था की गई है  जबकि निजी अस्पतालों और निजी लैब में शासन द्वारा निर्धारित 700 से 900 रुपये में जांच कराई जा सकती है।

 


बात कर ले वाराणसी में इस महामारी की चपेट में आने से कितने लोग प्रभावित हुवे तो पिछले तीन दिनों में मे ही 6559नए मरीजो में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है जबकि 29 लोगों की मौत हो गई। इसमें 23 अप्रैल को 2424 मरीज, 11 मौत, 24 अप्रैल को 2168 मरीज और 10 की मौत के बाद 25 अप्रैल को 1967 नए मरीज मिले हैं जबकि 8 मरीजों की मौत हो गई।

 



आकड़े इस तरीके से सामने आ रहे है जिससे ये अनुमान लगाया जा रहा है की इस बार युवाओ को ये बिमारी सबसे ज्यादा चपेट में ले रही है | दरसअल अप्रैल महीने में ही अब तक वाराणसी में हुई 119 मौत में 30 से अधिक मरीज 40 साल से कम है। संक्रमण की रफ्तार जिस तरह बढ़ रही है उसको देखते हुए डॉक्टरों के मुताबिक अगर शुरुआती लक्षण दिखे तो उससे तुरंत गंभीरता से लेना चाहिए और अस्पताल जाकर  जांच भी करानी चाहिए।