योगी सरकार के मजदूरों को केमिकल से नहलाने पर प्रियंका ने जताई आपत्ति

उत्तर प्रदेश के नोएडा में सबसे ज्यादा corona के मरीज पाए गए हैं जिसमें गौतम बुद्ध नगर मुख्य रूप से शामिल  है।नोएडा में corona के 32 मामले सामने आये है जो देश के सभी जिलों से ज्यादा है इसलिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चिकित्सा शिक्षा के प्रमुख सचिव रजनीश दुबे को वह जाकर हालात में सुधार लेन की जिम्मेदारी सौंपी है। (पढ़ें पूरी रिपोर्ट

योगी सरकार के मजदूरों को केमिकल से नहलाने पर प्रियंका ने जताई आपत्ति
योगी सरकार के मजदूरों को केमिकल से नहलाने पर प्रियंका ने जताई आपत्ति

*योगी सरकार के मजदूरों को केमिकल से नहलाने पर प्रियंका ने जताई आपत्ति*

U.P में कोरोना के मामलों में भारी बढ़ोतरी देखा जा रहा है।रविवार को में यूपी में 17 नए मामले सामने आये जिसके बाद अब प्रदेश में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 82 पर पहुँच गई है जिसके चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए चुनौतियाँ भी बढ़ती जा रही हैं।रविवार को मेरठ के 8, नोएडा के 5, गाजियाबाद के 2 व आगरा-बरेली में एक-एक मरीज सामने आए।इसको आंकड़ो को संज्ञान में लेते हुए C.M ने U.P बॉर्डर सील करने का आदेश दिया है।

बता दे कि उत्तर प्रदेश के नोएडा में सबसे ज्यादा corona के मरीज पाए गए हैं जिसमें गौतम बुद्ध नगर मुख्य रूप से शामिल  है।नोएडा में corona के 32 मामले सामने आये है जो देश के सभी जिलों से ज्यादा है इसलिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चिकित्सा शिक्षा के प्रमुख सचिव रजनीश दुबे को वह जाकर हालात में सुधार लेन की जिम्मेदारी सौंपी है।

इन हालतों में योगी सरकार ने अन्य राज्यों से पलायन कर प्रयागराज आए 88 लोगों को केपी कम्युनिटी सेंटर में 14 दिनों के लिए क्वारैंटाइन में रखा गया है। इस दौरान मजदूरों ने नाम, पता सहित अन्य डिटेल लिया जाएगा ओर उनके स्वस्थ की देख रेख भी करने का आदेश है।साथ ही आगे आने वाले प्रवासियों को भी इसी केंद्र पर क्वारंटाइन में रखा जाएगा।ऐसे में उनके खाने-पीने व रहने के सभी इंतजाम की जिम्मेदारी जिला प्रशासन को सौंपी गयी है।इसके बाद दूसरे जिलों के प्रवासियों को प्रशासन ने 20 बसों से उनके मंजिल तक रवाना किया।प्रयागराज जिलाधिकारी भानुचंद्र गोस्वामी ने ग्राम प्रधानों को अपने गांव से संबंधित जानकारी देने की बात कही।

लेकिन इन सबके बीच प्रदेश में मजदूरों के साथ प्रशासन द्वारा अमानवीय व्यवहार की मामले सामने आ रहे हैं।इस संक्रमण को कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज से रोकने के लिए सरकार ने सख्त कदम लेना शुरू किये है।आज सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ जिसमे बरेली में पलायन कर आये मजदूरों को सेनेटाइजर स्प्रे से नहलाया गया।दूसरे राज्यों से कुछ कामगार लौटे थे। इन्हें बस स्टैंड के पास सड़क पर बैठाकर पाइप से कैमिकल डालकर सैनिटाइज किया गया। जबकि हेल्थ वर्कर्स को बस सैनिटाइज करने का निर्देश दिया गया था।जिसकी निंदा करते हुए इसे अमानवीय कहा जा रहा है।

 

इसी तर्ज में कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट के ज़रिये कहा कि यूपी सरकार से गुजारिश है कि हम सब मिलकर इस आपदा के खिलाफ लड़ रहे हैं लेकिन कृपा करके ऐसे अमानवीय काम मत करिए। मजदूरों ने पहले से ही बहुत दुख झेल लिए हैं। उनको केमिकल डाल कर इस तरह नहलाइए मत। इससे उनका बचाव नहीं होगा बल्कि उनकी सेहत के लिए और खतरे पैदा हो जाएंगे।