वो गांव जहाँ मिले पूरे 4000 साल पुराने अभिलेख |

उत्तर प्रदेश के वाराणसी से करीब बीस किलोमीटर दूर जक्खिनी के बभनियांव गांव में करीब चार हजार साल पुराने शिल्‍प ग्राम का पता चला है। विशेषज्ञों का मानना है कि यह प्राचीन ग्रंथों में दर्ज शिल्‍प ग्रामों में से एक है।

उत्तर प्रदेश के वाराणसी से करीब बीस किलोमीटर दूर जक्खिनी के बभनियांव गांव (Babhniyaw village of Jakkhini) में करीब चार हजार साल पुराने शिल्‍प ग्राम (craft village) का पता चला है। विशेषज्ञों का मानना है कि यह प्राचीन ग्रंथों में दर्ज शिल्‍प ग्रामों में से एक है। पुरात्‍तव सर्वेक्षण विभाग ने फौरी तौर पर इस इलाके में उत्‍खनन का काम कराने का निर्णय लिया है। 26 फरवरी से इस पर काम शुरू भी हो जाएगा।

काशी हिन्‍दू विश्‍वविद्यालय (बीएचयू) के प्राचीन इतिहास, संस्‍कृति एवं पुरात्‍तव विभाग की ओर से पंचक्रोशी एरिया का सर्वेक्षण कराए जाने के दौरान बभनियांव गांव में प्राचीन टीला मिला जिस पर चार हजार साल पुराने मिट्टी के बर्तन, मंदिर और दो हजार साल पुरानी दीवारों के अवशेष तथा बाह्मी लिपि में लिखे अभिलेख मिले। सर्वेक्षण टीम की अगुवाई करने वाले प्रफेसर ए.के. दुबे ने बताया कि अवशेष ऐसी बस्‍ती के निशान हैं, जिसका जिक्र वाराणसी से संबंधित प्राचीन साहित्‍य में मिलता है।