कोरोना की वजह से नहीं होगा संसद का शीतकालीन सत्र

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण इस साल संसद के शीतकालीन सत्र का आयोजन नहीं किया जाएगा| संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी...

कोरोना की वजह से नहीं होगा संसद का शीतकालीन सत्र

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण इस साल संसद के शीतकालीन सत्र का आयोजन नहीं किया जाएगा| संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी और बताया कि कई दलों के नेताओं से चर्चा के बाद आम राय बनी थी कि सत्र नहीं बुलाया जाना चाहिए.संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी  ने कहा, 'कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए शीतकालीन सत्र के पक्ष में कोई नहीं था| इसके बाद अब सीधे जनवरी में बजट सत्र  बुलाया जाएगा|  

आपको बता दें कि पिछले साल 31 जनवरी से बजट सत्र शुरू हुआ था, जबकि 2018 में बजट सत्र की शुरुआत 28 जनवरी से हुई थी| संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी को पत्र लिखकर सूचित किया है कि इस बार कोरोना महामारी की वजह से शीतकालीन सत्र आयोजित नहीं किया जा सकता है और अब अगले साल जनवरी में बजट सत्र का आयोजन होगा| उन्होंने पत्र में लिखा है कि कोरोना के कारण मानसून सत्र सितंबर में शुरू हुआ था और कई जरूरी प्रोटोकॉल भी फॉलो करने पड़े थे| हाल में कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण स्थिति फिर से गंभीर हुई है और दिल्ली में भी मामले बढ़े हैं| 

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार देशभर में अब तक 99 लाख 6 हजार 165 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं, जिसमें से 1 लाख 43 हजार 709 लोगों की मौत हो चुकी है|  देशभर में अब तक 94 लाख 22 हजार 636 लोग कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं और 3 लाख 39 हजार एक्टिव केस मौजूद हैं|