Chakka Jam today : जहां लगी थी किले वहां लगाए गए फूल आज चक्का जाम में क्या होगा देश का हाल क्या कहा टिकैत ने

दिल्ली में 70 दिन से भी अधिक समय से किसान का आंदोलन लगातार जारी है। वही 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली की आड़ में हुई हिंसा के बाद दिल्ली पुलिस का रुख किसानों के लिए सख्त हो गया है। जिसके बाद गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों को रोकने के लिए सड़क पर किलो की बैरिकेडिंग की गई , इसके बाद दिल्ली पुलिस की बहुत किरकिरी भी हुई इसके बाद पुलिस ने इन किलो को रीलोकेट कर दिया है

Chakka Jam today : जहां लगी थी किले वहां लगाए गए फूल  आज चक्का जाम में क्या होगा देश का हाल क्या कहा टिकैत ने

दिल्ली में 70 दिन से भी अधिक समय से किसान का आंदोलन लगातार जारी है। वही 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली की आड़ में हुई हिंसा के बाद दिल्ली पुलिस का रुख किसानों के लिए सख्त हो गया है। जिसके बाद गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों को रोकने के लिए सड़क पर किलो की बैरिकेडिंग की गई , इसके बाद दिल्ली पुलिस की बहुत किरकिरी भी हुई इसके बाद पुलिस ने इन किलो को रीलोकेट कर दिया है

जहां पर दिल्ली पुलिस ने किले लगाई थी वहां पर भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने फूलों के पौधे लगा दिए हैं साथ ही इन फूलों को लगाने के लिए दो डंपर मिट्टी भी मंगाई गई थी, इसके बाद किसान नेता राकेश टिकैत के साथ  मिलकर अन्य किसान ने यहां पर फुल लगा दिए।किसान नेता को जब मीडिया ने जिलों के स्थान पर फूल लगाते देखा तो वह फोटो लेने वालों की भीड़ थी उमड़ पड़ी वहीं इससे पहले किसान ने चक्का जाम को लेकर भी बताया उत्तर प्रदेश और झारखंड में चक्का जाम नहीं किया जाएगा। यहां पर केवल जिला मुख्यालय में ज्ञापन दिया जाएगा इसके अलावा यह जाम देशव्यापी होगा

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि चक्का जाम के तहत देशभर में राष्ट्रीय हाईवे पर और राज्य हाईवे पर यातायात रोका जाएगा। 3 घंटे के चक्का जाम में दोपहर 3:00 बजे वाहनों के होरन 1 मिनट तक बजाया जाएंगे इसके बाद जाम समाप्त कर दिया जाएगा.

राष्ट्रीय और राज्य मार्गों को दोपहर 12:00 बजे से 3:00 बजे तक जाम किया जाएगा, इस दौरान इमरजेंसी और आवश्यक सेवाओं जैसे एंबुलेंस स्कूल बस आदि सेवाओं को नहीं रोका जाएगा चक्का जाम शांतिपूर्ण और अहिंसक होगा मोर्चा की तरफ से निर्देश दिए गए हैं कि प्रदर्शनकारी चक्का जाम के दौरान किसी भी अधिकारी कर्मचारी या आम नागरिक के साथ संघर्ष ना कर

राकेश टिकैत ने आगे कहा कि दिल्ली के भीतर कोई चक्का जाम नहीं होगा उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि दिल्ली में किसी तरह का चक्का जाम नहीं किया जाएगा क्योंकि बॉर्डर सील होने के कारण वहां पहले से ही चक्का जाम जैसी स्थिति है दिल्ली में प्रवेश की सभी सड़कें खुली रहेंगी सिवाय उनके जहां पहले से ही किसानों के मोर्चे लगे हैं।