Farmers protest : किसान आंदोलन के 100 दिन पुरे अब क्या करेंगे किसान

किसानों आंदोलन को आज 100 दिन पूरे हो गए हैं, लेकिन सरकार और किसान के बीच गतिरोध अभी भी बरकरार है। ऐसे में किसान 6 मार्च यानि कल KMP एक्सप्रेस-वे पर 5 घंटे की नाकाबंदी करेंगे। किसान ये विरोध सुबह 11 से शाम 4 बजे के बीच करेंगे। विरोध के चलते कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे को अलग-अलग स्थानों पर बंद किया जाएगा।

Farmers protest : किसान आंदोलन के 100 दिन पुरे अब क्या करेंगे किसान

 किसानों आंदोलन को आज 100 दिन पूरे हो गए हैं, लेकिन सरकार और किसान के बीच गतिरोध अभी भी बरकरार है। ऐसे में किसान 6 मार्च यानि कल KMP एक्सप्रेस-वे पर 5 घंटे की नाकाबंदी करेंगे। किसान ये विरोध सुबह 11 से शाम 4 बजे के बीच करेंगे। विरोध के चलते कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे को अलग-अलग स्थानों पर बंद किया जाएगा।

आंदोलन के 100 दिन पूरे होने पर आज किसान नेता राकेश टिकैत दोपहर 1 बजे टीकरी बार्डर पहुंचेंगे और किसान नेताओं के साथ बैठक कर आगे की रणनीति पर चर्चा करेंगे। उसके बाद टिकैत सैफई जाएंगे और वहां महापंचायत में हिस्सा लेंगे। वहीं दूसरी ओर यूपी के अलीगढ़ में अखिलेश यादव किसान महापंचायत में हिस्सा लेंगे, समें 20 हजार से ज्यादा किसानों के आने की संभावना बताई जा रही है।

कठोर सर्दियों के बाद राष्ट्रीय राजधानी के बॉर्डर पर बैठे आंदोलनरत किसान अब पोर्टेबल पंखों, मच्छरदानी और अन्य जरूरत की चीजों के साथ गर्मियों के महीनों की लड़ाई के लिए कमर कस रहे हैं। दिल्ली में बढ़ते तापमान के मद्देनजर किसानों ने मच्छरों को दूर रखने के लिए अपनी ट्रैक्टर ट्रॉलियों को चारों तरफ जालियों में फिट कर दिया है और मच्छर भगाने वाले यंत्र लगाए हैं।

एक प्रदर्शनकारी ने कहा, "हम पिछले 3 महीनों से सिंघु बॉर्डर पर किसानों के लिए संघर्ष कर रहे हैं और यह लंबा चलेगा। यहां गर्मी के हिसाब से टेंट बनाया गया है, फ्रिज और पंखे भी लगाए गए हैं।"

केएमएससी के जिला प्रभारी लखविंदर सिंह ने कहा कि पानी, पोर्टेबल पंखे और मच्छर भगाने के लिए भी व्यवस्था की गई थी। उन्‍होंने दोहराया कि जब तक केंद्र तीन कृषि कानूनों को वापस नहीं लेता तब तक आंदोलन जारी रहेगा और कहा कि अगर जरूरत पड़ी, तो वे 2024 तक इसे लागू रख सकते हैं।