Madhya Pradesh Police : पुलिस की हैवानियत महिलाएं चीखती रहीं, पुलिस पीटती रही

मध्य प्रदेश के खंडवा से एक वीडियो वायरल हुआ है. जिसमें कुछ पुलिस वाले गांव के एक परिवार को लाठी डंडे से जबरदस्त तरीके पीट रहे हैं. यह वीडियो छैगांवमाखन थाना क्षेत्र के गांव बंजारी का है.

Madhya Pradesh Police : पुलिस की हैवानियत महिलाएं चीखती रहीं, पुलिस पीटती रही

मध्य प्रदेश के खंडवा से एक वीडियो वायरल हुआ है. जिसमें कुछ पुलिस वाले गांव के एक परिवार को लाठी डंडे से जबरदस्त तरीके पीट रहे हैं. यह वीडियो छैगांवमाखन थाना क्षेत्र के गांव बंजारी का है. जहां पर पुलिसकर्मियों ने महिलाओं को भी नहीं बख्शा और लाठी और पाइप से बुरी तरह से पीटा. महिलाएं बचने के लिए पुलिस से हाथ जोड़कर भीख मांगती रहीं. लेकिन पुलिस बेरहमी से महिलाओं को पीटती रही. बताया जा रहा है कि पुलिस ने एक कोरोना मरीज और उसके परिवार को बेरहमी से पीटा है.

वहीं इस मामले में एसपी खंडवा विवेक सिंह का कहना है कि कोरोना पॉजिटिव आए युवक के परिवार वालों ने पहले स्वास्थ्यकर्मी फिर पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट की. बचाव में पुलिस को सख्ती के साथ पेश आना पड़ा. इस घटना के बाद सभी पुलिसकर्मियों के निलंबन की मांग की जा रही है.

बताया जा रहा है कि गांव बंजारी में 20 साल के एक युवक का शुक्रवार को कोरोना सैंपल लिया गया था. रविवार को इसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई. इसके बाद राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रम के मेडिकल अधिकारी रविवार को दोपहर में करीब एक से दो बजे के बीच में गांव बंजारी पहुंचे. इस मामले पर मेडिकल अधिकारियों ने कोरोना पॉजिटिव शख्स के परिवार वालों से जानकारी मांगी तो इस पर विवाद शुरू हो गया.

मेडिकल अधिकारियों का कहना है कि कोरोना पॉजिटिव आए मरीज के परिजनों ने उनके साथ मारपीट की. जिसकी वजह से उन्हें वहां से भागना पड़ा फिर इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई. आरोप है कि मौके पर पहुंचकर के साथ भी बदतमीजी की गई. इसके बचाव में पुलिस को सख्ती करनी पड़ी.

पुलिसवालों ने महिलाओं समेत मौके पर मौजूद लोगों की बेरहमी से इस कदर पिटाई की कि देखने वालों के रौंगटे खड़े हो गए. फिलहाल इस घटना के बाद खंडवा एसपी विवेक सिंह ने मारपीट करने वाले परिवार के लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए छैगांवमाखन थाना प्रभारी गणपत कनेल और एक आरक्षक को लाइन अटैच कर दिया है.