Varanasi News- लांच हुआ महिला उद्यमिता हेल्पलाइन 18002126844 एवं वेबसाइट

वाराणसी। आज वाराणसी में मिशन शक्ति फेज-3 में "निर्भया एक पहल" के अंतर्गत महिलाओं का कौशल क्षमता विकास प्रोत्साहन कार्यक्रम कमिश्नरी ऑडिटोरियम में संपन्न किया गया।

Varanasi News- लांच हुआ  महिला उद्यमिता हेल्पलाइन 18002126844 एवं वेबसाइट

लांच हुवा महिला उद्यमिता हेल्पलाइन 18002126844 एवं वेबसाइट www.msmemissionshakti.in साथ ही वाराणसी की सिल्क साड़ी का विशेष कबर भी जारी 

 

 


वाराणसी। आज वाराणसी में मिशन शक्ति फेज-3 में "निर्भया एक पहल" के अंतर्गत महिलाओं का कौशल क्षमता विकास प्रोत्साहन कार्यक्रम कमिश्नरी ऑडिटोरियम में संपन्न किया गया। इसके साथ ही आप को बतादे की लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिला उद्यमिता हेल्पलाइन 18002126844 एवं वेबसाइट www.msmemissionshakti.in लांच किया।

 

 

वही वाराणसी में कमिश्नरी ऑडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम में पोस्टमास्टर जनरल के0के0 यादव ने ओडीओपी में चयनित बनारस सिल्क साड़ी का विशेष कबर एवं विशेष विरूपण जारी किया।  इस दौरान महिलाओं को कौशल क्षमता विकास हेतु एक किट वितरित की गई। जिसमे महिलाओं में स्वरोजगार के अवसर, डिजिटल साक्षरत, मार्केटिंग बिजनेस आइडिया, उद्यमिता एवं भारत में महिला उद्यमी, महिलाओं के पुलिस थाने में अधिकार, महिलाओं के मौलिक अधिकार, महिला उत्पीड़न के खिलाफ प्रमुख कानून, सामाजिक सुरक्षा हेतु सरकार की प्रमुख योजनाएं यथा- सुकन्या समृद्धि, प्रधानमंत्री आवास, स्वनिधि माइक्रो क्रेडिट, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना तथा महिलाओं/बालिकाओं हेतु आत्मरक्षा प्रशिक्षण मॉड्यूल विषयक पुस्तिका दी गई।

 


       
इस दौरान यहाँ पर उपस्थित पोस्टमास्टर जनरल के0के0 यादव ने अपने संबोधन में कहा कि विशेष कबर व विशेष विरूपण में बनारस के ओडीओपी के सिल्क साड़ी प्रोडक्ट को देश दुनिया में और अधिक प्रोत्साहन मिलेगा। इस पर डाक टिकट जारी होने से जब कहीं डाक टिकट प्रदर्शनी लगती है तो संग्रहकर्ता इसे प्रदर्शित करते हैं। केंद्र व राज्य सरकार की अनेकों योजनाएं महिला व बालिका सशक्तिकरण, स्वावलंबन, सुरक्षा व सम्मान की संचालित है। उन्होंने आगे ये भी कहा महिलाओं को घर से सम्मान दें। परिवार के निर्णय व आर्थिक मामलों में भागीदार बनाएं। देश की बेटियों ने इतिहास रचे है। अभी हाल में आईएएस की टॉप 25 सूची में 12 महिलाएं हैं। 30 फीसदी बेटियों ने आईएएस क्वालीफाई किया है। इस अवसर पर संयुक्त आयुक्त उद्योग उमेश सिंह, उपायुक्त उद्योग वीरेंद्र कुमार, वरिष्ठ डाक अधीक्षक राजेंद्र राव सहित काफी संख्या में महिलाएं उपस्थित रही।