वाराणसी में बदल गया मिनी पीएमओ कार्यालय का पता | वाराणसी न्यूज़ | ZNDM NEWS |

वाराणसी में खुले मिनी पीएमओ यानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनसंपर्क कार्यालय का पता अब बदल गया है |  अब जनसम्पर्क कार्यालय  जवाहर नगर एक्सटेंशन कॉलोनी के प्‍लॉट नंबर 194 में बने बृज कृपा भवन में कार्यालय शिफ्ट हो गया है | रविन्द्रपुरी में मिनी पीएमओ के लिए मानखंड भवन में रेंट एग्रीमेंट पांच साल के लिए था,

वाराणसी में खुले मिनी पीएमओ यानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनसंपर्क कार्यालय का पता अब बदल गया है |  अब जनसम्पर्क कार्यालय  जवाहर नगर एक्सटेंशन कॉलोनी के प्‍लॉट नंबर 194 में बने बृज कृपा भवन में कार्यालय शिफ्ट हो गया है | रविन्द्रपुरी में मिनी पीएमओ के लिए मानखंड भवन में रेंट एग्रीमेंट पांच साल के लिए था,  एग्रीमेंट खत्‍म होने से एक किलोमीटर दूर जवाहर नगर एक्‍सटेंशन कॉलोनी के प्‍लॉट नंबर 194 में बने बृज कृपा भवन में कार्यालय शिफ्ट किए जाने की तैयारी एक महीने से चल रही थी। मंगलवार को बीजेपी के संगठन मंत्री रत्‍नाकर जी, काशी प्रांत के अध्‍यक्ष महेश चंद्र श्रीवास्‍तव और उपाध्‍यक्ष धर्मेंद्र सिंह ने विधिवत गणेश पूजन व दीप प्रज्‍जवलन कर नए कार्यालय का शुभारंभ किया। इस मौके पर बड़ी संख्‍या में पार्टी के नेता और कार्यकता मौजूद रहे। विधिवत पूजन के साथ नए भवन में कामकाज भी शुरू हो गया है हालांकि जगह बदलने से शिकायत लेकर आने वाले लोगों को मशक्कत करनी पड़ी।
साल 2014 में I वाराणसी लोकसभा सीट से नरेंद्र मोदी के निर्वाचित होने और प्रधानमंत्री बनने के बाद शहर की पॉश कालोनी रविन्‍द्रपुरी के मानखंड भवन में जनसंपर्क कार्यालय का केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उद्घाटन किया था। वाराणसी के सांसद के जनसंपर्क कार्यालय में केंद्र सरकार से लेकर यूपी सरकार के मंत्रियों के सुनवाई के लिए बैठने से लेकर चौकी तक की शिकायतें दर्ज कराने लोग पहुंचते रहे हैं। मिनी पीएमओ के तीन महीने बाद ही नवम्‍बर 2014 में
 भेलूपुर इलाके में मिनी सीएमओ भी खुला, लेकिन कुछ दिनों में ही बंद हो गया।
मिनी पीएमओ में सारी सुविधाएं
वाराणसी के सांसद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यालय हाईटेक है। करीब पांच हजार स्‍क्‍वॉयर फीट के दो मंजिले भवन में स्‍थापित कार्यालय पूरी तरह वातानुकूलित होने के साथ ही सभी सुविधाओं से युक्‍त है। इंटरनेट, वाईफाई सिस्‍टम से लैस कार्यालय में आईटी सेल भी खोला गया है। मंत्रियों की सुनवाई के लिए अलग कक्ष बनाए गए हैं। आने वाले दिनों में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग रूम भी बनेगा, ताकि नरेंद्र मोदी पार्टी के वरिष्‍ठ नेताओं से सीधे संवाद स्‍थापित कर सकें