बनारस का मजदूर माता का सपना पूरा करने के लिए निकला अयोध्या मंदिर निर्माण में योगदान देने

बनारस का मजदूर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में अपने माता का सपना पूरा करने के लिए आज अयोध्या के लिए 5 ईट लेकर रवाना हुवा है और वो अपने साइकिल ट्राली से ही काशी से अयोध्या का सफर तय करेगा दरअसल हम आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के गोद लिए हुए गांव डुमरी ग्राम पंचायत का एक मजदूर आज अपनी मां का सपना पूरा करने के लिए काशी से अयोध्या तक का सफर साइकिल ट्राली पर बैठकर पूरा करने का शुरुआत किया है|

बनारस का मजदूर माता का सपना पूरा करने के लिए निकला अयोध्या मंदिर  निर्माण में योगदान देने

बनारस का मजदूर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में अपने माता का सपना पूरा करने के लिए आज अयोध्या के लिए 5 ईट लेकर रवाना  हुवा है और वो अपने साइकिल ट्राली से ही काशी से अयोध्या का सफर तय करेगा दरअसल हम आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के गोद लिए हुए गांव डुमरी ग्राम पंचायत का एक मजदूर आज अपनी मां का सपना पूरा करने के लिए काशी से अयोध्या तक का सफर साइकिल ट्राली पर बैठकर पूरा करने का शुरुआत किया है बता दे आपको कि यह मजदूर कोई और नहीं मंगल केवट है जिससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी 2 बार मिल चुके हैं केवट अपने साइकिल ट्राली पर 5 ईट लेकर काशी से अयोध्या के लिए आज प्रस्थान कर चुके हैं। केवट का कहना है कि मंदिर निर्माण में इन ईटो का संग्रह करने के लिए निवेदन करेंगे मीडिया से बात करते हुए मंगल केवट ने बताया कि उसकी मां का सपना था कि राम मंदिर के निर्माण में उसकी मां का भी योगदान रहे  और केवट का कहना था कि उसके पास इतने पैसे नहीं है कि वह राम मंदिर के निर्माण के लिए दे पाए इसीलिए आज हो मां के सपने को पूरा करने के लिए आज 5 ईटो का संग्रह राम मंदिर निर्माण के लिए लेकर निकल पड़ा है।