देव दिवाली पर ड्यूटी लगने से अध्यापकों में गुस्सा जुटाने है खुद 200 दीये | Varanasi News

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन के मद्देनजर जिला प्रशासन देव दीपावली को भव्य रूप देने में जुटा हुआ है। देवदीपावली पर दीये जलाने की जिम्मेदारी माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों व विद्यार्थियों तथा बेसिक शिक्षा विभाग के अध्यापकों की ड्यूटी लगाई गई है।

देव दिवाली पर ड्यूटी लगने से अध्यापकों में गुस्सा जुटाने है खुद 200 दीये | Varanasi News

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन के मद्देनजर जिला प्रशासन देव दीपावली को भव्य रूप देने में जुटा हुआ है। देवदीपावली पर दीये जलाने की जिम्मेदारी माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों व विद्यार्थियों तथा बेसिक शिक्षा विभाग के अध्यापकों की ड्यूटी लगाई गई है। परिषदीय विद्यालयों के करीब 3500 अध्यापकों को विभिन्न गंगा घाटों पर दीया जलाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। यही नहीं सभी अध्यापकों में 200 दीयों की व्यवस्था भी स्वयं ही करनी है।

इसे लेकर अध्यापकों में रोष है। हालांकि वह खुलकर विरोध नहीं कर रहे हैं। शिक्षकों का मर्म समझते हुए लखनऊ के समाजिक कार्यकर्ता डा. नूतन ठाकुर ने इस संबंध में मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर आपत्ति जताई है।
उन्होंने इसकी प्रतिलिपि प्रधानमंत्री कार्यालय (नई दिल्ली), उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव, वाराणसी के आयुक्त को भी दी है।

इसमें कहा गया है कि प्रधानमंत्री के 30 नवंबर की प्रस्तावित वाराणसी आगमन के मद्देनजर देव दीपावली यात्रा में दीये जलाने के लिए प्राथमिक विद्यालयों के अध्यापकों की भी ड्यूटी लगाई गई है। बीएसए ड्यूटी में लगे अध्यापकों की सूची का पीडीएफ भी भेजा है यही नहीं सभी शिक्षकों से 200 दीये साथ में लाने का दबाव भी दिया जा रहा है। कोरोना महामारी में शिक्षकों को देव दीपावली में ड्यूटी लगाने व दीये जलाने का दबाव देना केंद्र व राज्य सरकार के निर्देशों का खुला उल्लंघन हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री से इसकी जांच करा कर अध्यापकों की ड्यूटी निरस्त कराने का अनुरोध किया है।

उधर जिला बेसिक शिक्षाधिकारी राकेश सिंह का कहना है कि अध्यापकों की सहमति से ही उनकी ड्यूटी गंगा उस पार दीया जलाने के लिए लगाई गई है। इसके लिए किसी भी अध्यापक पर किसी भी प्रकार का कोई दबाव नहीं दिया जा रहा है। इस मौके पर दीया लाना उनकी इच्छा के ऊपर निर्भर करता है।

शिक्षकों के साथ जिला बेसिक शिक्षाधिकारी कर रहे तैयारी

देव दीपावली मे गंगा घाट व उस पार रेता को दीपों से जगमग करने की तैयारी अपने अंतिम चरण में चल रही है। इस क्रम में बीएसए अध्यापकों के संग गुरुवार को गंगा उस पार भी गए थे। उन्होंने सेक्टर-11 में दीप प्रज्वलित करने के लिए चिन्हीकरण व मार्किंग का कार्य खंड शिक्षा अधिकारी लालजी को सौंपी है। साथ ही स्वयं भी नजर बनाए हुए हैं।