वाराणसी में तैयार हुआ का तीसरा बैलिस्टिक जांच केंद्र

अब वाराणसी के अपराध और अपराध करने वालो की खैर नहीं| जी हाँ ,आगरा लखनऊ के बाद तीसरा बैलिस्टिक जांच केंद्र वाराणसी में बन के हुआ तैयार..

वाराणसी में तैयार हुआ का तीसरा बैलिस्टिक जांच केंद्र

योगी सरकार हमेशा से ही अपराध के खिलाफ कड़े कदम उठाते रही है | अब वाराणसी में अपराध और अपराधियों की खैर नहीं क्यूंकि आगरा लखनऊ के बाद अब वाराणसी में तीसर  बैलिस्टिक जांच केंद्र बन के तैयार हो गया है। इस बैलिस्टिक जांच केंद्र से अपराधी ने अपराध के समय किस असलहे का इस्तेमाल किया,उसकी मारक क्षमता कितनी थी, कितनी दूर से फायर किया गया,कौन सा कारतूस इस्तेमाल किया, ऐसी तमाम गुत्थियों को अब वाराणसी में सुलझाया लिया जाएगा| एक से दो महीने में इसकी शुरुआत हो जाएगी| 

आपको बता दे कि केंद्र के बन जाने से इसका फायदा न केवल वाराणसी जोन के 10 जिलों की पुलिस को मिलेगा बल्कि प्रयागराज और गोरखपुर जोन के भी सभी जिलों में अपराध की गुत्थी पुलिस यहीं सुलझाएगी| वाराणसी के रामनगर स्थित विधि विज्ञान प्रयोगशाला में बैलिस्टिक अनुभाग (फायर आर्म्स की जांच) का निर्माण अंतिम चरणों में है|  शुभारंभ के बाद फिलहाल यहां छोटे असलहों की जांच होगी| जबकि बाद में बड़े और घातक हथियारों की गुत्थी भी यहां सुलझेगी.यहां बनी विधि विज्ञान प्रयोगशाला में एक्सपर्ट उन असलहों की जांच करेंगे, जो पुलिस उन्हें सौंपेगी|  यहां बनी फायरिंग रेंज में फायर करके और भी अन्य जांच प्रक्रिया के बाद फाइनल रिपोर्ट मिलेगी कि वारदात इसी असलहे से हुई है या नहीं| पूरी बैलिस्टिक यूनिट की सुरक्षा व्यवस्था भी कड़े घेरे से लैस होगी|  बिना अधिकारी के परमीशन के कोई भी यहां अंदर नहीं जा सकेगा|  सुरक्षा के लिहाज से पहले यहां गेट होगा, पिर शटर और अंत में चैनल से प्रवेश मिलेगी|