UTTAR PRADESH MLC ELECTION | यूपी MLC चुनाव की वोटिंग आज, बीजेपी के लिए क्यों अहम हो गया है यह चुनाव

उत्तर प्रदेश की छह शिक्षक और पांच स्नातक कोटे की एमएलसी सीट के लिए बीजेपी, सपा, कांग्रेस और शिक्षक संघों के अलावा निर्दलीय समेत कुल 199 उम्‍मीदवार मैदान में हैं. बीजेपी के लिए यह एमएलसी चुनाव काफी अहम माना जा रहा है, क्योंकि उच्चसदन में वह बहुमत के आंकड़े से दूर है.

उत्तर प्रदेश की छह शिक्षक और पांच स्नातक कोटे की एमएलसी सीट के लिए बीजेपी, सपा, कांग्रेस और शिक्षक संघों के अलावा निर्दलीय समेत कुल 199 उम्‍मीदवार मैदान में हैं. बीजेपी के लिए यह एमएलसी चुनाव काफी अहम माना जा रहा है, क्योंकि उच्चसदन में वह बहुमत के आंकड़े से दूर है. सूबे की छह शिक्षक और पांच स्नातक कोटे की एमएलसी सीट के लिए बीजेपी, सपा, कांग्रेस और शिक्षक संघों के अलावा निर्दलीय समेत कुल 199 उम्‍मीदवार मैदान में हैं. बीजेपी के लिए यह एमएलसी चुनाव काफी अहम माना जा रहा है, क्योंकि उच्च सदन में वह बहुमत के आंकड़े से दूर है. वोटिंग सुबह आठ बजे से पांच बजे तक वोटिंग होनी है. उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ बीजेपी के लिए यह चुनाव इसलिए अहम है क्योंकि वह विधान परिषद में भी संख्या बल बढ़ाना चाहती है. यही वजह है कि भाजपा ने स्नातक निर्वाचन खंड की सभी पांच सीटों से और शिक्षक निर्वाचन खंड की छह में से चार सीटों पर सीधे तौर पर अपने प्रत्याशी उतारे हैं. स्नातक निर्वाचन खंड की एक सीट पर बीजेपी ने शिक्षक संघ के प्रत्याशी को समर्थन दिया है तो एक अन्य सीट को छोड़ दिया है. वहीं, सपा ने तो सभी 11 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे हैं. इसके चलते दोनों दलों के शिक्षक संगठनों के प्रत्याशियों के बीच कांटे का मुकाबला माना जा रहा है. बीजेपी से स्नातक कोटे की सीटों पर लखनऊ से अवनीश सिंह पटेल, वाराणसी से केदारनाथ सिंह, आगरा से मानवेंद्र सिंह, मेरठ से दिनेश गोयल और इलाहाबाद झांसी से डॉ. यज्ञदत्त शर्मा मैदान में हैं. वहीं, शिक्षक कोटे के लिए बीजेपी की ओर से लखनऊ से उमेश द्विवेदी, आगरा से दिनेश वशिष्ठ, मेरठ से शिरीषचंद्र शर्मा और बरेली-मुरादाबाद से हरि सिंह ढिल्लो प्रत्याशी हैं. वहीं वाराणसी सीट पर चेतनारायण सिंह और गोरखपुर-फैजाबाद सीट पर अजय सिंह को पार्टी ने समर्थन दिया है.