उच्चतम न्यायालय सुनवाई: निर्भया मामला क्या ख़त्म होगा 3 मार्च को 8 साल का इंतजार? | ZNDM NEWS |

निर्भया सामूहिक दुष्कर्म मामले में दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी करने के मामले में  दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई खत्म हो गई है। कोर्ट ने अपना फैसला सुना भी दिया है। निर्भया केस में पटियाला हाउस कोर्ट ने आज चारों दोषियों का तीसरा डेथ वॉरंट जारी किया। एडिशनल सेशन जज ने 3 मार्च को सुबह 6 बजे फांसी देने का आदेश दिया है।निर्भया सामूहिक दुष्कर्म मामले में दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी करने के मामले में  दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई खत्म हो गई है। कोर्ट ने अपना फैसला सुना भी दिया है। निर्भया केस में पटियाला हाउस कोर्ट ने आज चारों दोषियों का तीसरा डेथ वॉरंट जारी किया। एडिशनल सेशन जज ने 3 मार्च को सुबह 6 बजे फांसी देने का आदेश दिया है।

निर्भया सामूहिक दुष्कर्म मामले में दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी करने के मामले में  दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई खत्म हो गई है। कोर्ट ने अपना फैसला सुना भी दिया है। निर्भया केस में पटियाला हाउस कोर्ट ने आज चारों दोषियों का तीसरा डेथ वॉरंट जारी किया। एडिशनल सेशन जज ने 3 मार्च को सुबह 6 बजे फांसी देने का आदेश दिया है। बता दें कि निर्भया के दोषियों को फांसी देने के लिए कोर्ट ने यह तीसरी बार वारंट जारी किया है आप को बता दे आज कोर्ट में चले सुनवाई के दौरान काफी बहस के बाद ये फैसला लिया गया  निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद कि 3 मार्च को दोषियों को फांसी दे दी जाएगी। उन्होंने कहा कि न्याय में देर होती है, अंधेर नहीं होता। उधर, दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा कि अभी कानूनी विकल्प बाकी हैं और इनका इस्तेमाल न किए जाने को इंसाफ देने में नाकामी कहा जाएगा। उन्होंने बताया कि दोषी पवन क्यूरेटिव पिटीशन और मर्सी पिटीशन लगाना चाहता है। दुष्कर्मी अक्षय भी गुनाह के वक्त अपने नाबालिग होने को लेकर नई याचिका दाखिल करना चाहता है। ख़ैर निर्भया केस में तीसरी बार डेथ वारंट आ तो गया है  और  सबको 3 मार्च की उस सुबह का बेसब्री से इंतजार रहेगा लेकिन देखते है क्या भारतीय कानून इस बार निर्भया को नइंसाफ़ दिला पाएगा या ये तीसरा वारंट चौथे वारंट में तब्दील हो जाएगा