पाकिस्तान में दो भारतीय उच्चायोग अधिकारी लापता, दोनों देशों के बीच बढ़ सकता है तनाव - Two Indian High Commission officials missing from Pakistan

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के दो ड्राइवर ड्यूटी पर बाहर गए थे, जो अपने स्थान तक नहीं पहुंचे। वहीं, भारत ने भी पूरे घटनाक्रम पर नजरें बना ली है और भारतीय मिशन ने स्थानीय अधिकारियों के साथ शिकायत भी की है और मामले को पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय तक पहुंचा दिया गया है[TWO INDIAN HIGH COMMISSION OFFICIALS MISSING FROM PAKISTAN]

पाकिस्तान में दो भारतीय उच्चायोग अधिकारी लापता, दोनों देशों के बीच बढ़ सकता है तनाव - Two Indian High Commission officials missing  from Pakistan
पाकिस्तान में दो भारतीय उच्चायोग अधिकारी लापता, दोनों देशों के बीच बढ़ सकता है तनाव - Two Indian High Commission officials missing from Pakistan

पाकिस्तान में दो भारतीय उच्चायोग अधिकारी लापता, दोनों देशों के बीच बढ़ सकता है तनाव - Two Indian High Commission officials missing  from Pakistan


कोरोना के इस काल में भारत के पड़ोसी देशो से संबध बिगड़ते जा रहे है | भारत के पड़ोसी  देश इस समय भारत को काफी परेशान करने में लगे है | पहले भारत नेपाल का सीमा विवाद हुआ फिर भारत चीन का सीमा विवाद चल रहा इसी मे अब पाकिस्तान का नाम भी जुड़ गया है | दरअशल खबर आ रही की इस्लामाबाद (पाकिस्तान) में भारतीय उच्चायोग के दो जूनियर अधिकारी लापता हो गए है। एएनआई ने बताया कि दो अधिकारी पिछले कुछ घंटों से गायब हैं। [TWO INDIAN HIGH COMMISSION OFFICIALS MISSING FROM PAKISTAN - Video]

बताया गया कि दोनों कर्मी आधिकारिक ड्यूटी के लिए एक वाहन में उच्चायोग से बाहर गए, लेकिन अपने गंतव्य तक नहीं पहुंचे। सूत्रों के मुताबिक, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के दो ड्राइवर ड्यूटी पर बाहर गए थे, जो अपने स्थान तक नहीं पहुंचे। वहीं, भारत ने भी पूरे घटनाक्रम पर नजरें बना ली है और भारतीय मिशन ने स्थानीय अधिकारियों के साथ शिकायत भी की है और मामले को पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय तक पहुंचा दिया गया है।


यह घटना तब सामने आई जब दिल्ली में दो पाकिस्तानी अधिकारियों को जासूसी की कोशिश करते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया और देश छोड़ने के लिए कह दिया गया। पाकिस्तानी उच्चायोग के दो अफसरों को भारतीय कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने जासूसी करने के आरोप में पकड़ा था। सरकार ने उन्हें अवांछित घोषित किया है। भारत ने उनकी गतिविधियों को राजनयिक मिशन के एक सदस्य के रूप में गैरकानूनी और देश के खिलाफ माना था।


देश विरोधी बताते हुए सरकार की ओर से पाक के उप राजदूत को एक आपत्तिपत्र भी जारी किया गया है जिसमें इस मामले पर विरोध दर्ज कराया गया। वहीं, पहले से तनावपूर्ण भारत-पाकिस्तान संबंधों में इस घटना के बाद और तनाव बढ़ गया।देश विरोधी बताते हुए सरकार की ओर से पाक के उप राजदूत को एक आपत्तिपत्र भी जारी किया गया है जिसमें इस मामले पर विरोध दर्ज कराया गया। वहीं, पहले से तनावपूर्ण भारत-पाकिस्तान संबंधों में इस घटना के बाद और तनाव बढ़ गया।

पाकिस्तान में भारतीय दूतावास के कार्यकारी उच्‍चायुक्‍त के बाहर बढ़ी सुरक्षा 

हाल ही में पाकिस्तान में भारतीय दूतावास के कार्यकारी उच्‍चायुक्‍त गौरव अहलूवालिया की कार का पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ के एक सदस्य ने मोटरसाइकिल से पीछा किया था। यही नहीं आइएसआइ ने गौरव अहलूवालिया का उत्पीड़न करने और उन पर नजर रखने के लिए उनके आवास के बाहर कई कारों और बाइकों का जमावड़ा लगा दिया था।

बता दे ,मार्च में पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग ने इस्लामाबाद में विदेश मंत्रालय को एक सख्त विरोध पत्र भेजा था, जिसमें पाकिस्तानी अधिकारियों द्वारा उनके अधिकारियों और कर्मचारियों के लगातार उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाई गई थी। भारत ने पाकिस्तानी अधिकारियों से कहा था कि इन घटनाओं की तत्काल जांच करें और संबंधित एजेंसियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दें कि इसी तरह की घटना आगे ना हो।