मध्य प्रदेश में SDM के घर में जब चोर को कुछ नहीं मिला तो लिखा 'जब घर में पैसे नही थे तो लॉक नही करना था कलेक्टर"

मध्य प्रदेश के देवास में डिप्टी कलेक्टर(SDM) के घर चोरी के लिए घुसा चोर जब घर मे चोरी के लिए कुछ नही पाया तो घर की दीवार पर SDM के नाम डांटते हुए चिठ्ठी लिखा "जब घर में पैसे नही थे तो लॉक नही करना था कलेक्टर".

मध्य प्रदेश में SDM के घर में जब चोर को कुछ नहीं मिला तो लिखा 'जब घर में पैसे नही थे तो लॉक नही करना था कलेक्टर

मध्य प्रदेश- देवास के सिविल लाइन इलाके में डिप्टी कलेक्टर त्रिलोचन गौड़ के सरकारी घर का ताला तोड़कर ना सिर्फ चोरों ने पुलिस को चुनौती दी है बल्कि चोर जाते-जाते डिप्टी कलेक्टर के नाम चिट्ठी भी लिख कर गए कि घर में पैसा नहीं रखते तो ताला क्यों लगाते हो |

 

 

 

बता दें, देवास जिले के खातेगांव के SDM त्रिलोचन सिंह गौड़ का सरकारी आवास सिविल लाइन में स्थित है. यहां कुछ दिनों पहले चोरी हो गई. गौड़ शनिवार शाम जब सरकारी आवास पर आए तो हैरान रह गए. घर का ताला टूटा था. जब वे अंदर आए तो सामान चेक किया. सबसे पहले उनकी नजर टेबल पर रखे पत्र पर गई. इस पर लिखा था- ‘जब पैसे नहीं थे तो लॉक ही नहीं करना था कलेक्टर.’

 

 

इसके बाद डिप्टी कलेक्टर ने देखा कि एक अंगूठी, चांदी की पायल, 30 हजार नगद, और कुछे सिक्के चोरी हो गए हैं. उनकी शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज किया. बता दें,  डिप्टी कलेक्टर त्रिलोचन सिंह गौड़ को यहां आए अभी ज्यादा समय नहीं हुआ है. वे 15 दिन पहले खातेगांव के SDM बनाए गए हैं.

 

 

शनिवार को जब एसडीएम आवास में लौटे तो उन्होंने ताला टूटा देखा. पुलिस को सूचना दी, तभी कुर्सी पर उन्हीं की डायरी और पेन का उपयोग कर एक पन्ना मिला. जिसमें लिखा था, "जब पैसे नहीं थे तो लॉक भी नहीं करना था कलेक्टर." 

 

 

 

शायद चोर को उम्मीद थी कि सरकारी अधिकारी के आवास में उसे जमकर नगदी और ज्वेलरी मिलेगी. लेकिन ऐसा नहीं हुआ जिससे नाराज होकर उसने पत्र लिख डाला. कोतवाली पुलिस ने एसडीएम की शिकायत पर 30 हजार नगद, एक अंगूठी, चांदी की पायल और सिक्के चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज की है.