एयर इंडिया को जल्द खरीद सकती है टाटा ग्रप

एयर इंडिया जल्द ही टाटा ग्रुप कंपनी अपने नाम कर सकती है | सूत्रों के मुताबिक , टाटा ग्रुप एयरएशिया के माध्यम से यह एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट फाइल करेगी...

एयर इंडिया को जल्द खरीद सकती है टाटा ग्रप

 

एयर इंडिया जल्द ही टाटा ग्रुप कंपनी अपने नाम कर सकती है | सूत्रों के मुताबिक , टाटा ग्रुप एयरएशिया के माध्यम से यह एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट फाइल करेगी| एयर एशिया में प्रमुख हिस्सेदारी टाटा ग्रुप के पास ही है| टाटा ग्रुप के अलावा एअर इंडिया के ही 200 कर्मचारियों का एक समूह भी सरकार के सामने ऑफ इंटरेस्ट जमा कर सकता है| एअर इंडिया के लिए रुचि पत्र जमा करने की डेडलाइन सोमवार शाम 5 बजे तक ही है| कर्मचारियों के इस समूह का दावा है कि फाइनेंशियल इन्वेस्टर्स उनके साथ हैं|  कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया है कि स्पाइसजेट (SpiceJet) के मालिक अजय सिंह भी एअर इंडिया में रुचि दिखा रहे हैं. हालांकि, इस बारे में कंपनी की तरफ से कोई जानकारी सामने नहीं आई है| एविएशन मिनिस्टर हरदीप​ सिंह पुरी ने पिछले साल ही कहा था कि अगर एअर इंडिया निजीकरण नहीं हुआ तो इसे बंद करना पड़ सकता है. रविवार को उन्होंने कहा कि एअर इंडिया का विनिवेश एक गोपनीय प्रक्रिया है. संबंधित विभाग यानी दीपम उचित समय पर जानकारी देगा| 

आपको बता दें कि वर्तमान में टाटा संस की विमान कंपनी विस्तारा है, जिसे वह सिंगापुर एयरलाइंस के साथ मिलकर चलाती है. अब यह किफायती विमान कंपनी AirAsia के जरिए एअर इंडिया में रुचि दिखा रही है. सिंगापुर एयरलाइंस इस सरकारी विमान कंपनी में निवेश करने की इच्छुक नहीं थी. एअर इंडिया पर करीब 90,000 करोड़ रुपये का कर्ज है| हाल ही में टाटा संस ने एयरएशिया में अपनी हिस्सेदारी को 51 फीसदी से बढ़ा लिया है. टाटा ग्रुप ने ही अक्टूबर 1932 में टाटा एयरलाइंस की स्थापना की थी, जिसे आज एअर इंडिया के नाम से जाना जाता है. साल 1953 में इस कंपनी की कमान भारत सरकार के हाथों में चली गई थी|