वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने अपनाया सख्त रुख सारनाथ के दरोगा और थानेदार किए गए निलंबित

वाराणसी के सारनाथ क्षेत्र में बच्चे का अपहरण कर उसकी हत्या हो जाने के बाद वाराणसी पुलिस अब हरकत में आ गई इस घटना में घोर लापरवाही सामने आई है | जिसके बाद वाराणसी एसएसपी अमित पाठक ने मामले को गंभीरता से लेते हुवे घटना से सम्बंधित थाने के थाना प्रभारी और दरोगा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है |

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने अपनाया सख्त रुख सारनाथ के दरोगा और थानेदार किए गए निलंबित

वाराणसी के सारनाथ क्षेत्र में बच्चे का अपहरण कर उसकी हत्या हो जाने के बाद वाराणसी पुलिस अब हरकत में आ गई इस घटना में घोर लापरवाही सामने आई है | जिसके बाद वाराणसी एसएसपी अमित पाठक ने मामले को गंभीरता से लेते हुवे घटना से सम्बंधित थाने के थाना प्रभारी और दरोगा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है |

दरसअल मामला यह है की सारनाथ थाना क्षेत्र में बीते 29 जनवरी को एक बच्चा घर से गायब हो गया था जिसका शव कल पाया गया बतादे पंचक्रोशी पैगंबरपुर निवासी मंजय कुमार वैवाहिक कार्यक्रमों में स्टेज की सजावट काम करता है। मंजय का बेटा विशाल (9) 29 जनवरी को क्षेत्र में ही हाथी देखने निकला था इसके बाद उसका पता नहीं लगा। खोजबीन के बाद मंजय ने सारनाथ थाने में सूचना दी तो गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज की गई। लेकिन स्थानीय पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया और जिसका परिणाम सबके सामने आ गया मासूम बच्चे को फिरौती के चक्कर में मार कर फेक दिया गया |


 इस सम्बन्ध में एसएसपी अमित पाठक ने बयान जारी कर के बताया वारदात से जुड़े सभी बिंदुओं को खंगाला जा रहा है। खुलासे के लिए क्राइम ब्रांच सहित पुलिस की तीन टीमें गठित की गई हैं। साथ ही उन्होंने कहा की मुकदमा दर्ज होने के बाद भी बच्चे की तलाश के लिए ठोस प्रयास न करने, प्रकरण से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत न कराने और पदीय कर्तव्यों के प्रति घोर लापरवाही बरतने के आरोप में दोनों पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की गई है।
उन्होंने सारनाथ थाना प्रभारी इन्द्रभूषण यादव और दरोगा संजय कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही दोनों के खिलाफ विभागीय जांच का आदेश दिया गया है।