वाराणसी-सारनाथ में शुरू हुआ तिब्‍बत में लोकतंत्र की स्‍थापना के लिए मतदान

वाराणसी के सारनाथ में निर्वासित तिब्बती संसद के लिए रविवार सुबह से मतदान विश्‍वस्‍तर पर शुरू हुआ।सुबह से तिब्‍बती मतदाताओं में उत्‍साह बना रहा और मतदाता सूची में शामिल लोगों का नाम लिस्‍ट से मिलान के बाद बैलट पेपर पर प्रत्‍याशियों का नाम अंकित करने के बाद मतबाक्‍स में प्रत्‍याशियों का भाग्‍य कैद हुआ।

वाराणसी-सारनाथ  में शुरू हुआ तिब्‍बत में लोकतंत्र की स्‍थापना के लिए मतदान

वाराणसी के सारनाथ में निर्वासित तिब्बती संसद के लिए रविवार सुबह से मतदान विश्‍वस्‍तर पर शुरू हुआ।सुबह से तिब्‍बती मतदाताओं में उत्‍साह बना रहा और मतदाता सूची में शामिल लोगों का नाम लिस्‍ट से मिलान के बाद बैलट पेपर पर प्रत्‍याशियों का नाम अंकित करने के बाद मतबाक्‍स में प्रत्‍याशियों का भाग्‍य कैद हुआ। रविवार देर शाम सभी प्रत्‍याशियों का भाग्‍य बैलट बाक्स में कैद हो गया। तिब्‍बती रीजनल इलेक्‍शन कमीशन पदाधिकारियों के समक्ष सील करने के बाद देखरेख में बाक्‍स को सुरक्षित रख दिया गया। अब इसे धर्मशाला में भेजा जाएगा  जहां अगले दो माह में अंतरिम तिब्‍बती निर्वासित सरकार का गठन किया जाएगा। वाराणसी में चुनाव अधिकारी गेशे लोबसांग ने बताया कि मतदान में लगभग सभी मतदाता शामिल हुए और मतदान शांतिपूर्वक संपन्‍न हुआ। 

लगभग डेढ़ सौ तिब्‍बती शरणार्थी लोकतंत्र के उत्‍सव में शामिल हुए और अपने मताधिकार का प्रयोग किया। उच्च तिब्बती संस्थान के कुलपति प्रो. नवांग समतेन सहित सभी मतदाताओं ने बैलट पेपर पर मत दिया जो मतदान बाक्‍स में सील होकर धर्मशाला भेजा जाएगा। वाराणसी में चुनाव अधिकारी गेशे लोबसांग के निर्देशन में एक दिन पूर्व ही चुनाव की प्रक्रिया की तैयारी को परखा गया और रविवार की सुबह मतदान के लिए सारनाथ स्थित अतिशा हाल को वाराणसी के लिए मतदान केंद्र बनाया गया था। बताया कि तिब्‍बती रीजनल इलेक्‍शन कमीशन द्वारा पहले ही बैलट पेपर प्री लिमिनरी चुनाव के लिए भेज दिया गया था। एक व्‍यक्ति बैलट पेपर पर दस प्रतिनिधियों का चयन कर सकता है। अंतिम तौर पर विश्‍व भर से आए बैलट पेपर की गणना की जाएगी और उनमें से 25 प्रतिनिधियों का चयन किया जाएगा और अंतिम तौर पर सरकार का गठन होगा।

आपको बता दे की , 17 वीं तिब्‍बती संसद के लिए भारत, नेपाल और भूटान में करीब 50 हजार तिब्बती मतदाता शा‍मिल हैं, जबकि विश्‍व भर में कुल 70 हजार तिब्‍बत मूल के मतदाताओं ने रविवार को अपने मताधिकार का प्रयोग किया। जबकि वाराणसी के सारनाथ में भी लगभग 150 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग रविवार को करते हुए तिब्‍बत की निर्वासित सरकार के गठन और तिब्‍बत के लाेकतंत्र की मजबूती के लिए मत देकर अपने सरकार के चयन की प्रक्रिया का हिस्‍सा बने। इसी कड़ी मेंं वाराणसी के सारनाथ में तिब्‍बत के रीजनल इलेक्‍शन कमीशन के पदाधिकारी गेशे लोबसांग के निर्देशन में सुबह से लेकर शाम तक मतदान की प्रक्रिया का अनुपालन कराया गया।