Farmer Leader Rakesh Tikait : राकेश टिकट पर हमले से राजनीति तेज

किसान आंदोलन फिर से एक बार गरमाता नजर आ रहा है । पिछले 4 महीनों से किसान दिल्ली की सीमाओं पर बैठे हुए हैं। तीन काले कानून को लेकर धरना दे रहे हैं देश के अलग-अलग राज्यों में शामिल होने के लिए लोगों को एकजुट कर रहे हैं और किसान महापंचायत हो रही है ।

Farmer Leader Rakesh Tikait : राकेश टिकट पर हमले से राजनीति तेज

किसान आंदोलन फिर से एक बार गरमाता नजर आ रहा है । पिछले 4 महीनों से किसान दिल्ली की सीमाओं पर बैठे हुए हैं। तीन काले कानून को लेकर धरना दे रहे हैं देश के अलग-अलग राज्यों में शामिल होने के लिए लोगों को एकजुट कर रहे हैं और किसान महापंचायत हो रही है ।

आपको बता दें देश में अलग-अलग क्षेत्रों में कई जगह पर किसान आंदोलन बहुत तेजी से हो रहा है जिसमे हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, समेत कई राज्यों में किसान आंदोलन मुख्य राजनीति का मुद्दा बन चुका है।

इसी बीच राकेश टिकैत के काफिले पर शुक्रवार को राजस्थान के अलवर जिले के तारपुरा चौराहे पर हमला हुआ , कुछ लोगों ने स्वागत के बहाने उनकी गाड़ी रुकवा और फिर हमला कर दिया। उनके ऊपर स्याही भी फेंकी गई साथ ही उनकी कार के शीशे भी तोड़ दिए गए। इस हमले के बाद राकेश टिकैत ने ट्वीट कर के भाजपा पर आरोप लगाया था। राकेश टिकैत ने कहा कि भाजपा के गुंडों ने उनके ऊपर हमला किया है।

इस समय राकेश टिकैत किसान आंदोलन के प्रमुख नेताओं में से एक हैं राकेश टिकट का इतिहास भी किसान आंदोलन से जुड़ा हुआ है। इसको लेकर किसान आंदोलन में सक्रिय रहने वाले राकेश टिकैत पर हमला होना आंदोलन को एक बार फिर से तेज कर रहा है और बीजेपी के नेताओं को फिर से घेरने की कोशिश की जा रही है।

राजस्थान में हुए राकेश टिकैत पर हमले के बाद एफआईआर के मुताबिक , राकेश टिकैत के काफिले पर शुक्रवार शाम कुछ लोगों ने हमला किया था। इस मामले में अब तक 16 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है , स्वागत करने के बहाने राकेश टिकैत पर काली स्याही फेंकी गई , इस हमले में राकेश टिकैत और राजस्थान के डीजीपी एम एल लाठर के ससुर राजाराम मील के सुरक्षाकर्मी से हथियार भी छीनने की कोशिश की गई।

राकेश टिकैत पर हमले का मामला शुक्रवार देर रात दर्ज किया गया। इस मामले में पुलिस ने एबीवीपी के कार्यकर्ता कुलदीप सिंह यादव समेत 16 लोगों को गिरफ्तार किया है। राकेश टिकैत पर यह हमला उस वक्त हुआ जब वह सांवली में सभा करके बानसूर में सभा करने जा रहे थे।

इसी पूरे मामले में अब राजनीति भी तेज हो चुकी है इस पर भाजपा ने आरोप लगाते हुए कहा इस मामले में उनकी पार्टी का कोई लेना देना नहीं है भाजपा ने पुलिस पर ही सवाल उठाते हुए कहा कि पूरी घटना पुलिस की मौजूदगी में हुई थी , आखिर पुलिस मूकदर्शक क्यों बनी रही।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी भाजपा पर आरोप लगाया है उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा अलवर में भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत के काफिले पर बीजेपी के लोगों द्वारा हमला निंदनीय है , दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी बीजेपी किसान आंदोलन को शुरुआत से ही किसानों के हक में संघर्ष करने वाले के प्रति अनर्गल बयानबाजी और अलोकतांत्रिक बर्ताव करती रही है जोकि बहुत शर्म की बात है।