बिहार विधानसभा चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी के बिगड़े बोल

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी आज चुनावी करने मधेपुरा पहुंचे । यहां तीसरे चरण में 7 नवंबर को मतदान होगा। मधेपुरा के बिहारीगंज में सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था हर साल दो करोड़ रोजगार देंगे । मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था बिहार को बदल देंगे क्या बदला रोजगार मिला नहीं आज युवा रोजगार मांगते हैं तो उनके साथ मारपीट किया जाता हैं डराया धमकाया जाता हैं ।

बिहार विधानसभा चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी के बिगड़े बोल

बिहार विधानसभा चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी के बिगड़े बोल

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी आज चुनावी  करने मधेपुरा पहुंचे । यहां तीसरे चरण में  7 नवंबर को मतदान होगा। मधेपुरा के बिहारीगंज में सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था हर साल दो करोड़ रोजगार देंगे । मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था बिहार को बदल देंगे क्या बदला रोजगार मिला नहीं आज युवा रोजगार मांगते हैं तो उनके साथ मारपीट किया जाता हैं डराया धमकाया जाता हैं ।

 प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री कितना भी झूठ बोल ले लेकिन सच्चाई देती है कुछ साल पहले प्रधानमंत्री ने कहा काले धन के खिलाफ लड़ाई है नोटबंदी कर दिए पूरे हिंदुस्तान को लाइन में खड़ा कर दिया । लाइन में कौन खड़ा था अंबानी अडानी अभी लाइन में लाइन में खड़े हुए हैं देखे हो भाइयों लेकिन आपके जेब से नरेंद्र मोदी से लेकिन आपके जेब से नरेंद्र मोदी ने पैसे निकाल लिए और अमीरों को कर्ज दे दिया।मोदी जी ऐसे देश नहीं चलेगा जनता को कब तक ठगते रहोगे।राहुल गांधी ने बुधवार को भी ईवीएम पर सवाल उठाते हुए बोले कि ईवीएम मोदी वोटिंग मशीन है उन्होंने शरद यादव को अपना गुरु बताते हुए कहा कि आप टीवी पर हर समय नरेंद्र मोदी को देखते हैं। राहुल अररिया और मधेपुरा में महागठबंधन प्रत्याशियों के लिए चुनावी सभाओं को संबोधित कर रहे थे।
प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों से थाली बजवाई लेकिन करोना नहीं भागा।

राहुल गांधी ने कहा कि पिछले चुनाव में जनता से वोट लेकर नीतीश कुमार बीजेपी से जाकर मिल गए मिल गए नरेंद्र मोदी व नीतीश कुमार की मदद करते हैं। मोदी ने करोना को हराने की बात कहकर लोगों से ताली बजाई बजाई और लाइट जलवाई लेकिन करोना नहीं भागा  लाकडाउन लागू करने से पहले उन्होंने गरीबों के बारे में कुछ नहीं सोचा करोना में घर वापस लौटने वाले मजदूरों की पिटाई करवाई गई।बिहार में किसानों को धान की उचित कीमत नहीं मिल रही है। जबकि छत्तीसगढ़ में किसानों को 2500 रुपये प्रति क्विंटल धान की खरीदारी की जा रही हैं। पंजाब में किसानों ने रावण की जगह प्रधानमंत्री,अंबानी अडवाणी का पुतला जलाया मोदी ने लोगों की जेब से पैसा निकालें हैं।