वाराणसी- प्रेस कांफ्रेंस में डॉक्टरों ने कोविड-19 वैक्सिंग से जुड़े सभी सवालो के जवाब दिए

वाराणसी में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है और साथ ही वैक्सीनेशन भी करवाया जा रहा । इसी को लेकर सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफार) द्वारा स्वास्थ्य के क्षेत्र में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के साथ मिलकर संचार सुदृढ़ीकरण का कार्य किया गया ।

वाराणसी- प्रेस कांफ्रेंस में डॉक्टरों ने कोविड-19 वैक्सिंग से जुड़े सभी सवालो के जवाब दिए

वाराणसी में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है और साथ ही वैक्सीनेशन भी करवाया जा रहा ।  इसी को लेकर सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफार) द्वारा  स्वास्थ्य के क्षेत्र में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के साथ मिलकर संचार सुदृढ़ीकरण का कार्य किया गया । इसी क्रम में चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, वाराणसी तथा सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफार) के संयुक्त तत्वाधान में कोविड-19 टीकाकरण एवं राष्ट्रीय टीबी उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत एक निजी होटल , कैंटोनमेंट, वाराणसी में मीडिया संवेदीकरण वर्कशॉप आयोजित किया गया | 
इस प्रेस कांफ्रेंस में कोविड -19 वैक्सीन और  टीबी के संदर्भ में अक्सर पूछे जाने वाले  आम जनता  सवाल संभावित जवाब स्वास्थ्य संचार सुदृढ़ीकरण हेतु मीडिया सेंसिटाईजेशन कार्यालय हुआ| 
 जैसे कुछ आम सवाल है जो अक्षर लोगो के मन में आते है उनके यहाँ जवाब दिए गए | 
 1 क्या कोविड की कोई वैक्सीन जी हां , वैक्सीन का परीक्षण अंतिम चरण में है । भारत सरकार जल्द जल्द आने वाली है ? ही कोविड 19 की वैक्सीन लांच कर सकती है । इसके बारे में अधिक जानकारी स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट www.mohfw.gov.in के माध्यम से ली जा सकती है । 

2 . क्या कोविड वैक्सीन हर वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर भारत सरकार ने किसी को दी जाएगी ? प्राथमिकता वाले समूहों का चयन किया है , जिन्हें अधिक जोखिम होने की वजह से वैक्सीन पहले लगायी जायेगी । पहले समूह में हेल्थकेयर एवं फ्रंटलाइन वर्कर्स शामिल हैं । दूसरे | समूह में 50 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति और 50 वर्ष से कम आयु के गंभीर रोगों से ग्रस्त व्यक्ति शामिल होंगे , जिन्हें कोविड -19 वैक्सीन लगायी जायेगी । 

3 . लगवाना क्या वैक्सीन अनिवार्य है ? कोविड -19 की वैक्सीन लगवाना स्वैच्छिक है । हालांकि , इस बीमारी से बचाव और यह बीमारी परिवार के सदस्यों , दोस्तों , रिश्तेदारों और सहकर्मियों सहित करीबी लोगों तक न पहुचे , इसके लिए कोविड -19 वैक्सीन की पूरी खुराक लगवाने की सलाह दी जाती है ।

 4. वैक्सीन का अभी परीक्षण नियामक निकायों द्वारा इसकी सुरक्षा एवं प्रभावकारिता को चल रहा है और इसे काफी जांचने के बाद ही देश में वैक्सीन को मंजूरी दी जाएगी ।