कोरोना संक्रमितों की तीन श्रेणी में होगी निगरानी-योगी

U.P में थ्री लेवल सर्विलांस की तैयारी

कोरोना संक्रमितों की तीन श्रेणी में होगी निगरानी-योगी

उत्तर प्रदेश में तबलीगी जमात की करतूतों से कोरोना संक्रमण के मरीजों में भारी इजाफा देखने को मिला है। बता दें कि सोमवार को अपर मुख्य सचिव गृह ने बताया कि प्रदेश में तबलीगी जमात से संबंधित कुल 159 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं।जिन्हें क्वॉरेंटाइन कर दिया गया है। बता दे कि उत्तर प्रदेश में आगरा के 29,लखनऊ से 12 गाजियाबाद से 14,सहारनपुर,शामली ओर मेरठ से 13-13, सीतापुर से 8 कानपुर नगर से 7,महाराजगंज के 6, गाजीपुर के 5, फिरोजाबाद हाथरस वाराणसी से 4-4 हापुड़ प्रतापगंज लखीमपुर खीरी आजमगढ़ के 3-3 जौनपुर बागपत रायबरेली बांदा मिर्जापुर के 2-2, बाराबंकी हरदोई शाहजहांपुर प्रयागराज औरैया से 1-1 तबलीगी जमात के लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

जिसे देखते हुए सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में उच्च अधिकारियों के साथ बैठक की।जहां प्रदेश में तबलीगी जमात के करतूतों से लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या की विकट संकट पर विचार विमर्श में हुए। उत्तर प्रदेश में एक महत्वपूर्ण फैसला लिया गया है जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने corona  के रोकथाम के लिए संक्रमितों में 3 तरह की लेवल बनाकर सर्विलांस करने की योजना बनाई है।जी हां अब कोरोना संक्रमितों को तीन श्रेणियों में बांटा जाएगा जिसमें प्रथम श्रेणी में स्वयं संक्रमित व्यक्ति को ,दूसरी श्रेणी में संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों रखा जाएगा तो तीसरी श्रेणी में दूसरे श्रेणी के संपर्क में आये लोगों को शामिल किया जाएगा।

इस फैसले की जानकारी सोमवार शाम अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने देते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव के मामले बढ़ने से स्थिति काफी संवेदनशील है।उन्होंने कहा कि जब तक तीनों लेवल के लोगों को चिन्हित नहीं किया जाता तब तक लॉक डाउन हटाने का फैसला उचित नहीं होगा।जिसके मद्देनजर केंद्र सरकार भी लॉक डाउन की अवधि बढ़ाने पर विचार कर रही है।