Prayagraj News: भारतीय सेना के हवलदार की हत्या , कल जाना था ड्यूटी पर

यूपी के प्रयागराज में धूमनगंज इलाके में एक युवती के साथ गैंगरेप के आरोप के बाद सेना की जवान की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी. आरोप है कि सेना के जवान ने अपने दोस्तों के साथ युवती के साथ गैंगरेप किया था. गैंगरेप की बात जब लोगों को पता लगी तो उन्होंने आर्मी जवान को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया. गंभीर हालत में अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई.

Prayagraj News: भारतीय सेना के हवलदार की हत्या , कल जाना था ड्यूटी पर

यूपी के प्रयागराज में धूमनगंज इलाके में एक युवती के साथ गैंगरेप के आरोप के बाद सेना की जवान की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी. आरोप है कि सेना के जवान ने अपने दोस्तों के साथ युवती के साथ गैंगरेप किया था. गैंगरेप की बात जब लोगों को पता लगी तो उन्होंने आर्मी जवान को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया. गंभीर हालत में अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई.

मृतक का नाम आशुतोष सिंह था और वो सेना में हवलदार के पद पर था. प्राप्त जानकारी के अनुसार आशुतोष और उसके पड़ोस में रहने वाली युवती के साथ अक्सर बातचीत होती रहती थी. बताया जा रहा है कि आशुतोष बीती रात युवती को अपने साथ बहार ले गया था।

हवलदार पर हमला करने वाले आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस की कई टीमें दबिश भी दे रही है. लेकिन लड़की के बार-बार बयान बदलने से कहानी उलझती जा रही है कि आखिर हत्या के पीछे क्या वजह थी? लड़की अब अपने साथ गैंगरेप होने की भी बात कर रही है. जिस आधार पर पुलिस ने लड़की के कपड़ों को सुरक्षित करा लिया है और उसे मेडिकल के लिए महिला कांस्टेबल के साथ अस्पताल भेज दिया है.
पीडि़ता ने अपने साथ गैंगरेप की जानकारी पुलिस को दी. वहीं घटना की जानकारी मिलते ही अज्ञात लोग वहां पहुंच गए और आशुतोष की जमकर पिटाई कर दी. शनिवार सुबह इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

वहीं आशुतोष के परिजनों ने युवती पर साजिश का आरोप लगाया है. परिजनों का कहना है कि साजिश के तहत आशुतोष की हत्या की गई है. फिलहाल पुलिस मामला दर्ज कर छानबीन में जुट गई है. इलाके में तनाव को देखते हुए मौके पर पुलिस फोर्स को तैनात कर दिया गया है

एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह के मुताबिक पूरे मामले में परिजनों से बातचीत कर और जानकारी जुटाई जा रही है. गौरतलब है आशुतोष सिंह जम्मू के उधमपुर में तैनात था और 2 जनवरी को छुट्टी पर घर आया था और आज ही उसे वापस जम्मू जाना था. लेकिन उससे पहले यह वारदात हो गई. मृतक के पिता पीएससी में थे और लड़की के पिता भी पीएसी में कार्यरत हैं. दोनों परिवारों के बीच पुरानी जान-पहचान भी थी. लड़की का ये भी कहना है कि उसकी मां की मौत हो गई है और उसके पिता उसकी देखभाल नहीं करते हैं. जिसके चलते आशुतोष के परिवार से उसकी नजदीक बढ़ गई थी. फिलहाल पुलिस मामले की सेना से जुड़े होने के चलते आरोपियों की धरपकड़ में जुट गई है.