वाराणसी के सर्राफा कारोबारी से प्रतापगढ़ में हुवे लूट का पुलिस ने किया खुलासा

वाराणसी के एक सर्राफा कारोबारी के साथ प्रतापगढ़ के हथिगवां इलाके में पिछले दिनों हुवे लूट के बाद से ये मामला पेचीदा हो चुका था एक तरफ जहां व्यवसाई का कहना था की उसके साथ करीब 40 लाख की लूट हुई है और इस बाबत उसने 40 लाख लूट की ही रिपोर्ट दर्ज कराई थी | वही इस लूट के मामले में शुक्रवार को सनसनीखेज खुलासा हुआ है।

वाराणसी के सर्राफा कारोबारी से प्रतापगढ़ में हुवे लूट का पुलिस ने किया खुलासा

 

वाराणसी के एक सर्राफा कारोबारी के साथ प्रतापगढ़ के हथिगवां इलाके में पिछले दिनों हुवे लूट के बाद से ये मामला पेचीदा हो चुका था एक तरफ जहां व्यवसाई का कहना था की उसके साथ करीब 40 लाख की लूट हुई है और इस बाबत उसने 40 लाख लूट की ही रिपोर्ट दर्ज कराई थी | वही इस लूट के मामले में शुक्रवार को सनसनीखेज खुलासा हुआ है।

 पुलिस ने बताया की 40 लाख नहीं बल्कि 4 करोड़ की लूट की गई थी दरसअल कोखराज पुलिस के हत्थे चढ़े वराणसी के सराफा कारोबारी के चालक ने चार करोड़ से ज्यादा कैश लूटे जाने की बात कही और अभियुक्त ने खुलासा करते हुवे बताया की ये पैसा हवाला का है। एसपी अभिनंदन ने मीडिया से बताया 31 जनवरी को हमें सुचना मिली की  प्रतापगढ़ जनपद के हथिगवां के जहानाबाद में स्कार्पियों सवार लोगों के साथ लूटपाट हुई और तब पता चला कि ये स्कार्पियों वराणसी के बड़े सराफा कारोबारी ज्वाला सेठ की है और ये स्कार्पियों वाराणसी से  दिल्ली जा रहा था।

इस घटना के बाद कारोबारी भी कोखराज आए लेकिन उन्होंने गाड़ी से 40 लाख रूपये ही लूटे जाने की रिपोर्ट दर्ज कराया।  इस घटना में पुलिस चालाक को संदिग्ध मान रही थी पुलिस ने  जब स्कार्पियो चालक हरिनाथ के साथ कड़ाई से पूछताछ की तो उसने पुलिस के सामने अपने द्वारा किए गए इस कृत्य को काबुल कर लिया उसने बताया की उसने अपने बड़े भाई हरिओम के साथ मिलकर लूट की योजना बनाई थी और पुलिस ने कार्यवाही कर मध्य प्रदेश पुलिस ने हरिनाथ के भाई हरिओम व उसके साथी मुंबई निवासी सुनील वर्मा व ग्यास बाबू के कब्जे से एक करोड़ 74 लाख नकद, एक लाख 86 हजार के करीब आंशिक जले नोट व कुछ पूर्ण जले नोट बरामद कर लिया।

 पकडे गए हरिनाथ के मुताबिक वह और उसका भाई पर करीब 25 लाख का कर्ज है इसलिए उसने उसने कर्ज चुकाने के लिए कारोबारी से पैसा मांगा  लेकिन सेठ ने पैसा देने से मना कर दिया। उसे मालुम था कि जो रकम वह ले जा रहा है वह हवाला है। इसलिए उसने अपने भाई के साथ मिलकर लूट की योजना बनाई। और घटना को अंजाम दे दिया |
इस मामले का खुलासा होने के बाद एसपी अभिनंदन ने जांच के लिए एसआईटी का गठन कर आयकर विभाग व प्रवर्तन निदेशालय की टीम को रिपोर्ट भेज दिया है।