वाराणसी समेत पूरे उत्तर प्रदेश में पौष पूर्णिमा स्नान हुआ संपन्न

आज वाराणसी समेत पूरे उत्तर प्रदेश में में वर्ष के पहले गुरु पुष्य योग के अवसर पर गंगा घाटों पर नहाने वाले श्रद्धालुओं की काफी भीड़ नजर आई। बता दे कि गुरु पुष्य नक्षत्र के संयोग में कई लोगों ने स्नान किया और आज के दिन खरीदारी करना भी बेहद शुभ माना जाता है ।

वाराणसी समेत पूरे उत्तर प्रदेश में पौष पूर्णिमा स्नान हुआ संपन्न

आज वाराणसी समेत पूरे उत्तर प्रदेश में में वर्ष के पहले गुरु पुष्य योग के अवसर पर गंगा घाटों पर नहाने वाले श्रद्धालुओं की काफी भीड़ नजर आई। बता दे कि गुरु पुष्य नक्षत्र के संयोग में कई लोगों ने स्नान किया और आज के दिन खरीदारी करना भी बेहद शुभ माना जाता है ।इस दिन 5 महीने की शांत भरी पूर्णिमा भी रहेगी जिससे अक्षय फल मिलेगा वाराणसी की अस्सी घाट प्रह्लाद घाट दशाश्वमेध घाट सहित सभी घाटों पर लोगों ने स्नान किया सूर्य की पूजा की और भगवान से प्रार्थना की बता दे आपको कि कहा जाता है कि चंद्रमा अपने ही राशि यानी कर्क में रहेगा जिससे इस दिन की शुभता और बढ़ जाएगी कहा जाता है । इस धार्मिक पर्व को ले करके यह भी कहा जाता है कि पूर्णिमा का व्रत रखने से आर्थिक संकट भी दूर होता है। गुरु पुष्प संयोग साल में तीन या चार बार ही रहता है लेकिन इस साल यह संयोग 28 जनवरी से लेकर 25 फरवरी के बीच बनेगा बता दे आपको कि गंगा घाट पर आज काफी संख्या में लोगों ने गंगा स्नान किया और प्रशासन ने भी यहां पर उचित व्यवस्था कर रखी थी  हिंदू धर्म में गंगा स्नान का अपना महत्व है शास्त्रों में 3 माह प्रयत्न  स्नान दान का विधान है इसमें मार्ग कार्तिक और वैशाख शामिल है  दोनों के स्नान के तहत माघ स्नान को भी आयुर्वेदिक दृष्टि से रितु अनुसार शारीरिक अनुकूल माना जाता है।