पारले-जी ने तोड़ा अपना ही 82 सालो का रिकॉर्ड | PARLE BROKE 82 YEARS RECORD

[PARLE BROKE 82 YEARS RECORD] पारले प्रोडक्ट्स ने अपने सबसे अच्छे बिकने वाले, लेकिन कम कीमत वाले ब्रांड पारले-जी पर फोकस किया, क्योंकि ... (पूरा पढ़े)

पारले-जी ने तोड़ा अपना ही 82 सालो का रिकॉर्ड | PARLE BROKE 82 YEARS RECORD
पारले-जी ने तोड़ा अपना ही 82 सालो का रिकॉर्ड | PARLE BROKE 82 YEARS RECORD

पारले-जी ने तोड़ा अपना ही 82 सालो का रिकॉर्ड | PARLE BROKE 82 YEARS RECORD

पारले-जी 1938 से ही लोगों के बीच एक फेवरेट ब्रांड रहा है और कई सालो से लोगो की पसंद बना हुआ है|  आज इस बिस्किट ने 82 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है - जी हां जहाँ  एक और देश दुनिया में इस महामारी की वजह से हर व्यवसाय को बहुत बड़ा झटका लगा, वही दूसरी तरह कई व्यवसाय को काफी घाटा उठाना पड़ा है | लेकिन पारले -जी बिस्किट के बिक्री में उछाल आया है और ये बिस्किट लॉकडाउन में सबसे ज्यादा खाए जाने वाला बिस्किट बन गया है और उसने इसकी बिक्री में पिछले ८२ साल का रिकार्ड तोड़ दिया| [PARLE BROKE 82 YEARS RECORD]

एक समाचार पत्रिका के अनुसार पारले प्रोडक्ट्स ने अपने सबसे अच्छे बिकने वाले, लेकिन कम कीमत वाले ब्रांड पारले-जी पर फोकस किया, क्योंकि ग्राहकों की ओर से इसकी खूब डिमांड आ रही थी। वजह पारले -जी सस्ता है यानी कोई भी गरीब 5 रूपए का पारले खरीद सकता है| कंपनी ने अपने डिस्ट्रिब्यूशन चैनल को भी एक हफ्ते के अंदर रीसेट कर दिया, ताकि रिटेल आउटलेट पर बिस्कुट की कमी ना हो।

सबसे बड़ी बात, जब लॉकडाउन लगा तब पारले -जी कंपनियों ने अपने कर्मचारियों के आने-जाने तक की व्यवस्था कर दी थी, ताकि वह आसानी और सुरक्षित तरीके से काम पर आ सकें और स्टॉक ख़त्म ना हो| इसके अलावा आप को बता दे कि विशेषज्ञों के अनुसार लॉकडाउन में सिर्फ पारले-जी ही नहीं, ब्रिटानिया का गुड डे, टाइगर, मिल्क बिकिस, बार्बर्न और मैरी बिस्कुट के अलावा पारले का क्रैकजैक, मोनैको, हाइड एंड सीक जैसे बिस्कुट भी खूब बिके।