ट्विटर के CEO जैक डॉर्सी ने दिया इस्तीफा, पराग अग्रवाल होंग नए CEO

ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) जैक डोर्सी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। जैक ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। अब उनकी जगह पराग अग्रवाल यह जिम्मेदारी संभालेंगे। जैक ने ट्वीट कर कहा कि लोगों को इस बारे में खबर है कि नहीं, लेकिन मैंने ट्विटर से इस्तीफा दे दिया है। डोर्सी ने 28 नवंबर को आखिरी बार ट्वीट करते हुए लिखा था कि 'आई लव ट्विटर'.अपने ट्वीट के साथ उन्होंने एक चिट्ठी भी पोस्ट की है, जिसमें लिखा है कि उन्होंने कंपनी के सह-संस्थापक से लेकर सीईओ, अध्यक्ष, अंतरिम सीईओ जैसी तमाम भूमिकाएं निभाईं।

ट्विटर के CEO जैक डॉर्सी ने दिया इस्तीफा, पराग अग्रवाल होंग नए CEO

ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) जैक डोर्सी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। जैक ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। अब उनकी जगह पराग अग्रवाल यह जिम्मेदारी संभालेंगे। जैक ने ट्वीट कर कहा कि लोगों को इस बारे में खबर है कि नहीं, लेकिन मैंने ट्विटर से इस्तीफा दे दिया है। डोर्सी ने 28 नवंबर को आखिरी बार ट्वीट करते हुए लिखा था कि 'आई लव ट्विटर'.अपने ट्वीट के साथ उन्होंने एक चिट्ठी भी पोस्ट की है, जिसमें लिखा है कि उन्होंने कंपनी के सह-संस्थापक से लेकर सीईओ, अध्यक्ष, अंतरिम सीईओ जैसी तमाम भूमिकाएं निभाईं। अब उन्होंने 16 साल कंपनी को देने के बाद इस्तीफा देने का फैसला किया है। उन्होंने यह भी बताया कि उनके बाद कंपनी के सीटीओ पराग अग्रवाल ट्विटर के अगले सीईओ होंगे।

 


जैक डोर्सी के इस्तीफा देने के बाद पराग अग्रवाल ने भी एक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि जैक और हमारी पूरी टीम का बहुत-बहुत धन्यवाद। उन्होंने आगे लिखा कि वह भविष्य को लेकर बेहद उत्साहित हैं। साथ ही उन्होंने सभी के साथ और उन पर भरोसा करने के लिए सबको धन्यवाद कहा।

 


जैक डोर्सी को ट्विटर के सीईओ पद से इसलिए इस्तीफा देना पड़ा क्योंकि वह एक वित्तीय भुगतान कंपनी स्क्वायर के भी सीईओ हैं। स्क्वायर की स्थापना उन्होंने ही की है। ऐसे में कुछ बड़े निवेशकों ने जैक डोर्सी के एक साथ दो कंपनी के सीईओ होने पर सवाल उठाए थे। सवाल किए जा रहे थे कि क्या वह प्रभावी रूप से दोनों कंपनियों का नेतृत्व कर सकते हैं? इसी के चलते उन्होंने इस्तीफा देने का फैसला किया।

 

 

जैक ने ही की थी ट्विटर की स्थापना
जैक डोर्सी ने ही ट्विटर की भी स्थापना की थी। 15 पहले मार्च 2006 में उन्होंने ट्विटर की स्थापना की थी और फिर 2008 तक कंपनी के सीईओ भी रहे। 2008 में उन्होंने इस भूमिका से हटा दिया गया और डिक कोस्टोलो ट्विटर के सीईओ बने। हालांकि, 2015 में जब डिक कोस्टोलो ने पद छोड़ा तो वह दोबारा ट्विटर के सीईओ बनकर कंपनी में लौट आए।