Aryan Khan Case में आया नया मोड़ - गवाह केपी गोसावी के निजी बॉडीगार्ड ने कहा 'मेरे पास हैं पुख्ता सबूत, वानखेड़े को मिलने थे 8 करोड़'

आर्यन खान ड्रग केस दिन पे दिन नया मोड़ ले रहा है | पहले तो मामले में गवाह केपी गोसावी फरार हुआ, जिसके बाद उसके राजनीतिक पार्टियों के साथ लिंक निकले। अब खुद को गोसावी का निजी बॉडीगार्ड कहने वाले प्रभाकर सेल मीडिया के सामने आए और पैसों के लेन-देन को लेकर नए खुलासे किए। जिसके सबूत उनके पास हैं।

Aryan Khan Case में आया नया मोड़ - गवाह केपी गोसावी  के निजी बॉडीगार्ड ने कहा 'मेरे पास हैं पुख्ता सबूत, वानखेड़े को मिलने थे 8 करोड़'

आर्यन खान ड्रग केस दिन पे दिन नया मोड़ ले रहा है | पहले तो मामले में गवाह केपी गोसावी फरार हुआ, जिसके बाद उसके राजनीतिक पार्टियों के साथ लिंक निकले। अब खुद को गोसावी का निजी बॉडीगार्ड कहने वाले प्रभाकर सेल मीडिया के सामने आए और पैसों के लेन-देन को लेकर नए खुलासे किए। जिसके सबूत उनके पास हैं। हालांकि एनसीबी शुरू से ही इन आरोपों से इनकार कर रही है।

 

प्रभाकर सेल ने आरोप लगाते हुए कहा कि गोसावी और सैम डिसूजा को आर्यन खान को छोड़ने के लिए 25 करोड़ लेने की बात को उन्होंने सुना था। इसमें 8 करोड़ रुपये एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को दिए जाने थे। समीर ही आर्यन खान ड्रग्स केस की जांच कर रहे हैं। प्रभाकर सेल ने आगे कहा कि वो दबाव या पैसे के लिए ये बयान नहीं दे रहे हैं, ना ही उनका किसी मंत्री के साथ कोई संबंध है।

 

 

उन्होंने कहा कि 6 सितंबर को मेरी बेटी के जन्मदिन पर मुझे गोसावी से तनख्वाह के रूप में 5000 रुपये मिले। बाद में उन्होंने 15 हजार और 3 हजार रुपये बारी-बारी दिए। इसके अलावा उन्हें एक भी रुपया नहीं मिला है। वो सिर्फ सच सामने लाने की कोशिश कर रहे हैं। उनके बयान देने के लिए किसी से कोई डील नहीं हुई है। जब गोसावी सरेंडर करेगा, तो वो फिर से बोलेंगे। इससे पहले सोमवार को उन्होंने दावा किया था कि क्रूज शिप पर छापेमारी के बाद वानखेड़े की मौजूदगी में उनसे 9-10 खाली पन्नों पर हस्ताक्षर करवाए गए।

 

 

प्रभाकर सेल ने ये भी दावा किया था कि वो गोसावी के साथ काम करते थे, लेकिन जब वो फरार हो गया तो उन्हें एनसीबी जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े से जान का खतरा महसूस होने लगा। हालांकि एनसीबी ने इन आरोपों की जांच के आदेश दिए हैं।