Bharat Ratna for Ratan Tata : रतन टाटा को भारत रत्न देने के मांग पर खुद क्या बोले रतन टाटा

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक नई बहस छिड़ी हुई है , एक तरफ सोशल मीडिया पर किसान आंदोलन, रोहित शर्मा, कंगना राणावत, अपने अपने मतों का ट्रेंड चलाया जा रहा है, अब दूसरी तरफ भारत रत्न दिए जाने को लेकर भी मांग उठ रही है। आपको बता दें कि समय-समय पर देश में भारत रत्न दिए जाने को लेकर मांग उठती रही है इसमें कई सेलिब्रिटी को या फिर किसी खिलाड़ी को या फिर किसी राजनीतिक व्यक्ति को भारत रत्न देने को लेकर जनता द्वारा मांग की जाती है पर इस बार न तो किसी खिलाड़ी ना किसी कलाकार न कोई वैज्ञानिक को भारत रत्न दिए जाने को लेकर मांग उठ रही है वाकली इस बार देश के बड़े बिजनेसमैन में से एक और टाटा कंपनी के पूर्व चेयरमैन रतन टाटा को भारत रत्न दिए जाने को लेकर उनके समर्थक सोशल मीडिया पर उनके नाम से ट्रेंड चला रहे हैं.

Bharat Ratna for Ratan Tata : रतन टाटा को भारत रत्न देने के मांग पर खुद क्या बोले रतन टाटा

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक नई बहस छिड़ी हुई है , एक तरफ सोशल मीडिया पर किसान आंदोलन, रोहित शर्मा, कंगना राणावत, अपने अपने मतों का ट्रेंड चलाया जा रहा है, अब दूसरी तरफ भारत रत्न दिए जाने को लेकर भी मांग उठ रही है। आपको बता दें कि समय-समय पर देश में भारत रत्न दिए जाने को लेकर मांग उठती रही है इसमें कई सेलिब्रिटी को या फिर किसी खिलाड़ी को या फिर किसी राजनीतिक व्यक्ति को भारत रत्न देने को लेकर जनता द्वारा मांग की जाती है पर इस बार न तो किसी खिलाड़ी ना किसी कलाकार न कोई वैज्ञानिक को भारत रत्न दिए जाने को लेकर मांग उठ रही है वाकली इस बार देश के बड़े बिजनेसमैन में से एक और टाटा कंपनी के पूर्व चेयरमैन रतन टाटा को भारत रत्न दिए जाने को लेकर उनके समर्थक सोशल मीडिया पर उनके नाम से ट्रेंड चला रहे हैं.

आपको बताते चलते हैं कि टाटा कंपनी के पूर्व चेयरमैन रतन टाटा को भारत रत्न दिए जाने की मांग की शुरुआत मोटिवेशनल स्पीकर डॉ विवेक बिंद्रा के ट्वीट से हुई, विवेक बिंद्रा ने रतन टाटा को भारत रत्न दिए जाने की मांग से संबंधित ट्वीट करते हुए लिखा था कि भारत के प्रसिद्ध उद्योगपति रतन टाटा को हम भारत रत्न दिए जाने की मांग करते हैं #BharatRatnaforratantata  के नाम से एक ट्रेंड शुरू हुआ जो देखते ही देखते हजारों की तादाद में लोगों ने उसे ट्वीट और रिट्वीट करना शुरू कर दिया।

आपको बताते चलते हैं कि साल 2019 मार्च के महीने में रतन टाटा ने भारत की सबसे सस्ती कार नैनो को मार्केट में उतारा था उनका सपना था कि हर एक वर्ग के लोग कार में बैठ सके और घूम सके इसलिए उन्होंने मध्यम और गरीब व्यक्तियों के लिए नैनो कार मार्केट में लेकर आए उसके बाद एक कार देखती देखते बहुत सारी सुर्खियां बटोर चुकी थी और वह देश की सबसे सस्ती कार के रूप में मार्केट में आई थी। खेर यह तो बात है दिन टाटा की हुई , पर हम बात आज भारत रतन की कर रहे थे जो उनके समर्थक उन्हें देने के लिए मांग कर रहे थे , अभी ये  बात और सोशल मीडिया पर वायरल होती रतन टाटा ने अपने अधिकारी ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया और कहा मैं सोशल मीडिया पर मुझे भारत रत्न देने की करने वाले लोगों की भावनाओं का सम्मान करता हूं लेकिन मेरा विनम्र निवेदन है कि इस तरह के कैंपेन बंद कर दिए जाए मैं खुद को भारतीय होने और भारत के विकास और समृद्धि में योगदान देने के लिए भाग्यशाली मानता हूं उन्होंने कहा कि मैं हमेशा भारत के विकास और समृद्धि में योगदान देने की कोशिश करता रहूंगा रतन टाटा के इस ट्वीट ने लोगों का दिल जीत लिया इसके लिए उनके निवेदन के बाद भी लोग लगातार रतन टाटा के नाम से ट्वीट कर ही रहे है।