नगर निगम वाराणसी नगर निगम परिवहन विभाग में सामने आया करोड़ो का घोटाला 5 निलंबित | वाराणसी समाचार

नगर निगम परिवहन विभाग में गाड़ियों के मरम्मत के नाम पर हुए घोटाले में  जांच के बाद पूरा मामला सामने आ चूका है |     वाराणसी नगर निगम की फैक्ट फाइंडिंग कमेटी ने नगर निगम परिवहन विभाग में हुवे घोटाले का आज खुलासा किया है |   आप को बता दे वित्तीय वर्ष 2018 से 2019 के दौरान हुवे घोटाले को पकड़ा गया था |

नगर निगम परिवहन विभाग में गाड़ियों के मरम्मत के नाम पर हुए घोटाले में  जांच के बाद पूरा मामला सामने आ चूका है |    
वाराणसी नगर निगम की फैक्ट फाइंडिंग कमेटी ने नगर निगम परिवहन विभाग में हुवे घोटाले का आज खुलासा किया है |  
आप को बता दे वित्तीय वर्ष 2018 से 2019 के दौरान हुवे घोटाले को पकड़ा गया था |  नगर आयुक्त गौरांग राठी ने जानकारी देते हुवे
बताया है की 4 लिपिक और 1 जेई को निलंबित कर दिया है और एक के खिलाफ कार्रवाही के लिए शासन को पत्र भी भेजा गया है |
लेकिन आज हुवे इस खुलासे से जहां प्रशासन की पारदर्शिता की पोल खुली है  वहीं दूसरी ओर प्रशासन के कार्यशैली पर भी सवालिया निशान खड़े हो रहे है|  नगर निगम के परिवहन विभाग में घोटाले में जांच के बाद भी घोटाले से जुड़ी फाइलें गायब होती रही है आप को बता दे  300 करोड़ रुपए के घोटाले  का वाराणसी नगर निगम के अधिकारियों पर आरोप लगा है |  
आज प्रेस वार्ता के दौरान नगर आयुक्त गौरांग राठी ने बताया कि जांच रिपोर्ट में परिवहन विभाग द्वारा 22 लाख 85 हजार के घोटाले टायर,ट्यूब, व बैटरी के नाम पर हुए हैं। और 19 लाख की खरीद बेच से जुडी 155  फाइल अब भी गायब है|
नगर आयुक्त  गौरांग राठी ने बताया की स्पेयर खरीद में 10 कंपनियों को भी ब्लैकलिस्ट किया गया है और उनपर भी कार्रवाही की जाएगी|