अचानक पहुंचे नगर आयुक्त को देख फरार हुवे दो सुपरवाइजर जानिए क्यों ?

वाराणसी में आज मुख्यमंत्री के आगमन से पहले नगर आयुक्त गौरांग राठी साइकिल से जनपद में चल रहे कार्यों की समीक्षा करने पहुंचे इस दौरान नगर आयुक्त ने जमीनी हकीकत जाना और साथ ही बलुआवीर दारानगर वार्ड के दुल्ली गढ़ई व बलुआबीर वार्ड के क्षेत्र में कई महीनों से लगे हुए सीवर के पानी की समस्या का निरीक्षण भी किया |

अचानक पहुंचे नगर आयुक्त को देख फरार हुवे दो सुपरवाइजर जानिए क्यों ?

वाराणसी में आज मुख्यमंत्री के आगमन से पहले नगर आयुक्त गौरांग राठी साइकिल से जनपद में चल रहे कार्यों की समीक्षा करने पहुंचे इस दौरान नगर आयुक्त ने जमीनी हकीकत जाना और साथ ही बलुआवीर दारानगर वार्ड के दुल्ली गढ़ई व बलुआबीर वार्ड के क्षेत्र में कई महीनों से लगे हुए सीवर के पानी की समस्या का निरीक्षण भी किया | इस दौरान नगर आयुक्त  कचहरी स्थित सिकरौल प्रथम सब जोन कार्यालय पहुंचे और सब उस वक्त चौक पड़े जब नगर आयुक्त गौरांग राठी को देख मौके पर सुस्‍ता रहे दो सफाई सुपरवाइज़र फरार हो गए। इस दौरान नाराज नगर आयुक्त ने तुरंत सफाई इंस्पेकटर से बात कर कार्यवाही की बात की साथ हीउन्होंने बताया की यदि संतोषजनक उत्तर नहीं मिला तो उनकी सेवा समाप्त भी की जा सकती है।
इस सम्बन्ध में नगर आयुक्त गौरांग राठी ने बताया कि शहर में सफाई व्यवस्था और अन्य व्यवस्थाओं की चेकिंग के लिए हम लोग अक्सर औचक निरीक्षण साइकिल द्वारा करते हैं ताकि सच्चाई सामने आ सके।
आज इसी क्रम में जब नगर आयुक्त बलुआवीर दारानगर वार्ड के दुल्ली गढ़ई व बलुआबीर वार्ड के क्षेत्र में गए तब वहा पर क्षेत्री लोगो ने वहा की समस्याओ से नगर आयुक्त को अवगत कराया  जिसमें क्षेत्रीय पार्षद मनोज यादव व  पार्षद तूफैल अंसारी भी मौजूद रहे ।
पार्षद मनोज यादव ने बताया कि कई वर्षों से सुबह शाम शिविर का पानी दुल्ली गढ़ई क्षेत्र में लग जाता है जिसे लेकर मैंने कई बार जलकल महाप्रबंधक  व संबंधित विभाग के सभी अधिकारियों को लिखित रूप से अवगत कराया जिसका मैंने सदन में भी कई बार चर्चा की आवाज उठाया मगर आज तक इस समस्या का समाधान नहीं हो पाया । नगर आयुक्त गौरांग राठी ने सभी के समस्याओं पर गौर करते हुवे भरोसा दिलाया कि जल्द से जल्द इस समस्या का समाधान कराया जाएगा ।और वही पार्षद तूफैल अंसारी ने भी क्षेत्र में कई जगह पर सीवर की पानी की समस्या को नगर आयुक्त को अवगत कराया व समस्या के निदान की मांग कि ।