मुंबई पर मंडराया निसर्ग चक्रवात का खतरा आने वाले कुछ घंटे है शहर पर भारी

महाराष्ट्र में कोरोना के कहर के बाद अब शहर में निसर्ग चक्रवाती तूफान का आफत मंडरा रहा है। इस लिए मुंबई में रेड अलर्ट जारी किया गया है इस खतरे को देखते हुवे महाराष्ट्र में 10 और गुजरात में 11 एनडीआरएफ की टीमें तैनात कर दी गई है | Mumbai on Alert, Nisarga Cyclone to hit some parts of city.

मुंबई पर मंडराया निसर्ग चक्रवात का खतरा आने वाले कुछ घंटे है शहर पर भारी
Mumbai on high alert, Nisarga Cyclone

Mumbai on High alert, Nisarga Cyclone 

महाराष्ट्र में कोरोना के कहर के बाद अब शहर में निसर्ग चक्रवाती तूफान का आफत मंडरा रहा है। इस लिए मुंबई में रेड अलर्ट जारी किया गया है इस खतरे को देखते हुवे महाराष्ट्र में 10 और गुजरात में 11 एनडीआरएफ की टीमें तैनात कर दी गई है दरअसल निसर्ग तूफान की वजह से भारी बारिश और तेज तूफानी हवाएं चलने का अंदेशा है । इसके साथ ही  मौसम विभाग ने भी चेतावनी दे डाली है कि अगले 12 घंटों के दौरान निसर्ग तूफ़ान विकराल रूप ले सकता है। महाराष्ट्र के पुनर्वसन मंत्री विजय वडेट्टिवार का कहना है कि चक्रवात का असर दक्षिण अरब सागर में ज्यादा देखने को मिल सकता है।

दरअसल ईस्ट-सेंट्रल अरब सागर के ऊपर गहरे दबाव वाला क्षेत्र सक्रिय हो गया है और अनुमान है ये यह आगे चलकर तीव्र चक्रवाती तूफान में बदलने वाला है। 3 जून को दोपहर में यह महाराष्ट्र के समुद्री तट को पार करेगा। उत्तरी महाराष्ट्र और दक्षिणी गुजरात के तटीय इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है। निसर्ग तूफान के मद्देनजर तटीय पालघर और रायगढ़ जिलों में स्थित रासायनिक और परमाणु ऊर्जा संयंत्रों की सुरक्षा के लिए पर्याप्त एहतियात बरती जा रही है। और कोस्ट गार्ड की तरफ से लगातार मछुआरों को मौसम के बारे में जानकारी देने के साथ अलर्ट जारी किया जा रहा है। इसके साथ ही उनकी नौकाओं को सुरक्षित ठिकाने पर लाने का इंतजाम किया जा रहा है। साथ ही नागरिकों से अपील की जाती है कि समुद्र के किनारे न जाएं, साथ ही किसी पेड़ या खंभे के नीचे न खड़े हों।आईएमडी के मुताबिक चक्रवात ईस्ट-सेंट्रल अरब सागर के ऊपर पणजी (गोवा) के पश्चिम दक्षिण-पश्चिम से 280 किलोमीटर दूर है। इसके साथ ही मुंबई के दक्षिण और दक्षिण-पश्चिम से यह 490 किलोमीटर दूर है। वहीं गुजरात के सूरत से यह 710 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में स्थित है। निसर्ग तूफान का असर दिखना शुरू हो गया है।और 110 किलोमीटर प्रति घंटे की तरफ्तार के साथ यह तूफान तटों से टकराएगा| तूफान के खतरे को देखते हुवे शहर को है अलर्ट पर रखा गया है लोगो से अपील की जा रही समुद्री इलाको में ना जाए और साथ ही सारे सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम कर दिए गए है |