मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना की स्थिति को लेकर समीक्षा करने नोएडा जाएंगे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को कोरोना के स्थिति की समीक्षा करने और  यूपी के श्रमिकों की समस्याओं को जानने के लिए नोएडा जाएंगे| इस दौरान वह गाजियाबाद और मेरठ का भी  दौरा करेंगे... (नीचे पूरा पढ़े)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना की स्थिति को लेकर समीक्षा करने नोएडा जाएंगे
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना की स्थिति को लेकर समीक्षा करने नोएडा जाएंगे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना की स्थिति को लेकर समीक्षा करने नोएडा जाएंगे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को कोरोना के स्थिति की समीक्षा करने और  यूपी के श्रमिकों की समस्याओं को जानने के लिए नोएडा जाएंगे| इस दौरान वह गाजियाबाद और मेरठ का भी  दौरा करेंगे| आपको बता दें कि लॉकडाउन के बावजूद उत्तर प्रदेश के नोएडा में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है | नोएडा में पिछले तीन दिनों में कोरोना वायरस से संक्रमित 19 मरीज मिले हैं|  इसी के साथ पिछले तीन दिनों में यूपी में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 72 पर पहुंच गई है| वही  बढ़ते संक्रमण के बीच भी दिल्ली से कामगार मजदूरों का पलायन भी जारी है| इन सभी समस्याओं की समीक्षा करने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को नोएडा जाएंगे | जानकारी के मुताबिक सीएम योगी दिल्ली से पलायन करने वाले यूपी के श्रमिकों की समस्याओं को समझेंगे| वहीं सीएम दिल्ली स्थित कंट्रोल रूम का भी निरीक्षण करेंगे| वे आज दिल्ली में रात्रि विश्राम करेंगे|  इसके बाद मुख्यमंत्री मंगलवार को गाजियाबाद और मेरठ का दौरा करेंगे|

 आपको बता दें कि 22 मार्च को राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लागू होने के बाद उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल और बिहार के कामगार लाखों की संख्या में पैदल चलकर गौतम बुद्ध नगर और गाजियाबाद की ओर आ रहे हैं| जिससे कोरोना वायरस के फ़ैलाने का खतरा और बढ़ रहा है| इसलिए1000 बसों की मदद के बाद स्थिति और बिगड़ने के बाद अब  योगी सरकार ने UP में सफर पर पूरी तरह  बैन लगा दिया है| योगी सरकार ने दिल्ली, हरियाणा और पंजाब से लोगों के यूपी में अपने घर आने के लिए सफर पर पाबंदी लगा दी है| मुख्यमंत्री योगी ने लोगो से अपील की है कि "जो जहां हैं वहीं उसके रहने-खाने का  प्रबंध किया गया जायेग|

राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन को देखते हुए योगी  सरकार ने जिला प्रशासन को आदेश दिया है कि जो जहां है, वही उन सभी लोगों के रहने और खाने वहीं इंतजाम कर दिया जाए|  सरकार ने दिल्ली, हरियाणा और पंजाब से हजारों की संख्या में पलायन करके  नोएडा और ग्रेटर नोएडा आए  श्रमिकों  के ठहरने, खाने-पीने और उपचार के लिए व्यवस्थाएं पूरी कर ली हैं|  इसके लिए गौतम बुद्धनगर के जेपी स्पोर्ट्स सिटी का अधिग्रहण किया गया है|  यहाँ बुद्ध इंटरनेशनल सर्किट है और वहां आवासीय सुविधाएं उपलब्ध हैं| अब वहां जिला प्रशासन शेल्टर होम का निर्माण कर रहा है, जिसमें निराश्रित लोगों को ठहराया जाएगा|

इसके अलावा, प्रशासन ने कम से कम 20 ऐसी इमारतों की पहचान की है जिन्हें दिल्ली-एनसीआर छोड़ने वाले लोगों के घरों में बदल दिया जाएगा|  अधिकारियों ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार उन्हें आश्रय में रखना चाहती है क्योंकि सरकार नहीं चाहती कि कोई संक्रमित व्यक्ति अपने गृहनगर तक पहुंचकर वहां पर कोरोना वायरस का प्रसार करे|