Maharashtra Politics : महाराष्ट्र सरकार करेगी इन कलाकारों की जांच जाने क्यों

महाराष्ट् से अब नई खबर सामने आ रही है , ट्विटर पर चले ट्वीट वॉर के बाद अब महाराष्ट् सरकार ने ये फैसला लिया है की अब विराट कोली , कंगना राणावत , लता मगेशकर सहित तमाम कलाकारों पर जांच होगी। जांच बात की होगी की कही सरकार यानी बीजेपी के दबाव में आकर इन कलाकारों ने ट्वीट तो नहीं किया। महाराष्ट्र सरकार ने यह कार्रवाई कांग्रेस की शिकायत के बाद शुरू की है। कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने गृहमंत्री अनिल देशमुख से ऑनलाइन मुलाकात की थी। उन्होंने यह मांग की थी कि रिहाना के ट्वीट के बाद सचिन तेंदुलकर, लता मंगेशकर, विराट कोहली सहित कई बड़े सितारों ने जो ट्वीट किए हैं उनमें कई शब्द कॉमन है। लिहाजा इस बात की जांच करना बहुत जरूरी है कि क्या यह सभी ट्वीट किसी दबाव में किए गए थे या नहीं

Maharashtra Politics : महाराष्ट्र सरकार करेगी इन कलाकारों की जांच जाने क्यों

महाराष्ट् से अब  नई खबर सामने आ रही है , ट्विटर पर चले ट्वीट वॉर के बाद अब महाराष्ट् सरकार ने ये फैसला लिया है की अब विराट कोली , कंगना राणावत , लता मगेशकर सहित तमाम कलाकारों पर जांच होगी। जांच  बात की होगी की कही सरकार यानी बीजेपी के दबाव में आकर इन कलाकारों ने ट्वीट तो नहीं किया। महाराष्ट्र सरकार ने यह कार्रवाई कांग्रेस की शिकायत के बाद शुरू की है। कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने गृहमंत्री अनिल देशमुख से ऑनलाइन मुलाकात की थी। उन्होंने यह मांग की थी कि रिहाना के ट्वीट के बाद सचिन तेंदुलकर, लता मंगेशकर, विराट कोहली सहित कई बड़े सितारों ने जो ट्वीट किए हैं उनमें कई शब्द कॉमन है। लिहाजा इस बात की जांच करना बहुत जरूरी है कि क्या यह सभी ट्वीट किसी दबाव में किए गए थे या नहीं

कांग्रेस ने अपनी शिकायत में कहा है कि रिहाना के ट्वीट के बाद सचिन तेंदुलकर, लता मंगेशकर, विराट कोहली समेत बड़े सितारों ने जो ट्वीट किए हैं। उनमें कई शब्द कॉमन है जैसे अमिकेबल सुनील शेट्टी ने तो अपने ट्वीट में मुंबई बीजेपी नेता हितेश जैन को टैग किया था। वहीं सायना नेहवाल और अक्षय कुमार का ट्वीट एकदम सेम है। इन सभी ट्वीट की टाइमिंग और पैटर्न को देख कर लग रहा है कि बीजेपी सरकार के दबाव में इन सितारों ने ट्वीट किए होंगे।

कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा है कि सचिन तेंदुलकर, लता मंगेशकर सहित इन सभी सितारों ने किसानों की मौत पर कुछ भी नहीं कहा। इतने दिनों तक यह सभी खामोश रहे लेकिन अचानक सब ट्वीट करने लगे हैं। इस ट्वीट को देख कर लग रहा है कि बीजेपी सरकार के दबाव में यह ट्वीट करवाए गए होंगे। इस बाबत हमने गृहमंत्री से शिकायत की है। उन्होंने जांच के आदेश भी दिए हैं। अगर बीजेपी अन्य राज्यों की सरकार गिरा सकती हैं तो इनके लिए भारत रत्न पर दबाव डालना कोई बड़ी बात नहीं है। हम सचिन या किसी के विवेक पर सवाल नहीं खड़े कर रहे हैं।

इसी तरह बीजेपी महिला मोर्चा की सोशल मीडिया इंचार्ज प्रीति गांधी ने ट्वीट किया, 'ग्रेटा, रिहाना और मिया खलीफा को अपने देश का ध्यान रखने के लिए कहने के बजाय शरद पवार हमारे अपने सचिन तेंदुलकर को धमकी दे रहे हैं। सचिन ने ऐसा क्या कहा जिससे पवार साहब इतने दुखी हैं? उन्होंने सिर्फ देश को एकजुट रहने के लिए ही कहा है।'

महाराष्ट्र सरकार के गृहमंत्री अनिल देशमुख के आदेश पर बीजेपी नेता और प्रवक्ता राम कदम ने निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि सचिन तेंदुलकर, लता मंगेशकर, सुनील शेट्टी और अक्षय कुमार इन सभी लोगों ने विदेशी लोगों की साजिश के खिलाफ ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंने यह कहा था कि भारत अखंड है और हम सब साथ हैं। एकजुटता वाले ट्वीट को महाराष्ट्र सरकार कैसे देश विरोधी बता रही है। उन्होंने यह भी कहा कि इस उम्र में लता दीदी के ट्वीट की जांच महाराष्ट्र सरकार करेगी? यह बेहद ही शर्मनाक बात है। कांग्रेस पार्टी देश के खिलाफ रहने वाली शक्तियों की प्रवक्ता के रूप में काम कर रही है।