Mahapanchayat Kisan Andolan : टिकैत की ललकार पानी तो हम यूपी की ही पिएंगे

गाजीपुर बॉर्डर पर डटे किसानों ने साफ ऐलान किया है कि वह धरने प्रदर्शन से कतई पीछे नहीं हटेंगे। किसानों के नेता राकेश टिकैत से मिलने के लिए दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया पहुंचे। उसके बाद राकेश टिकैत ने फिर से हुंकार भरी। उन्होंने साफ किया कि प्रशासन चाहे कितना भी हमारा बिजली पानी बंद कर दे, लेकिन वे किसी भी हालत में पीछे नहीं हटने वाले।

Mahapanchayat Kisan Andolan : टिकैत की ललकार पानी तो हम यूपी की ही पिएंगे

गाजीपुर बॉर्डर पर डटे किसानों ने साफ ऐलान किया है कि वह धरने प्रदर्शन से कतई पीछे नहीं हटेंगे। किसानों के नेता राकेश टिकैत से मिलने के लिए दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया पहुंचे। उसके बाद राकेश टिकैत ने फिर से हुंकार भरी। उन्होंने साफ किया कि प्रशासन चाहे कितना भी हमारा बिजली पानी बंद कर दे, लेकिन वे किसी भी हालत में पीछे नहीं हटने वाले।

दरअसल मनीष सिसोदिया ने किसान आंदोलन में पहुंचकर किसान नेताओं से बात की। उन्होंने किसानों के लिए पानी की व्यवस्था करने का प्रस्ताव रखा, जिस पर राकेश टिकैत ने साफ किया कि वह यूपी का ही पानी पिएंगे। उन्हें दिल्ली के पानी की जरूरत नहीं है। जरूरत पड़ी तो वह किसानों के साथ मिलकर खुद खोदकर पानी निकाल लेंगे।

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि हम यूपी का पानी ही पिएंगे, अगर प्रशासन ने हमारी बिजली पानी बहाल नहीं की, तो हम यहीं सबमर्सिबल खोदकर पानी निकाल लेंगे। हम नहीं चाहते कि दिल्ली से पानी के टैंकर हमारे लिए आएं। अगर टैंकर आए तो वह बॉर्डर से उस तरफ (दिल्ली की ओर) ही खड़े रहेंगे। हम अपनी जमीन का ही पानी पिएंगे।

इलाके में धारा-144 लगी होने के बावजूद धरना प्रदर्शन जारी रखने और भीड़ एकत्र करने के मामले में जब उसने गिरफ्तारी होने का सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, 'मैं खुद गिरफ्तारी दे दूंगा, पुलिस को मुझे गिरफ्तार करने के लिए यहां आने की जरूरत नहीं है।'

राकेश टिकैत ने सरकार को ललकारा और कहा कि जो लोग यहां आएंगे उनसे बात की जाएग। भारत सरकार से भी बात और बैठकें जारी रहेंगी। किसानों से कहा कि वे शांति बनाए रखें। उन्होंने कहा, 'ये किसान की पगड़ी की, उसके मान सम्मान की लड़ाई है। हम हटेंगे, तो सम्मान के साथ हटेंगे।