Lata Mangeshkar Birthday- आज है भारत की सुर साम्राज्ञी लता मंगेशकर का जन्मदिन

आज इतिहास के साथ 28 सितंबर का बड़ा सुरीला रिश्ता है। अपनी मधुर आवाज से पिछले कई दशक से संगीत के खजाने में हर दिन नये मोती भरने वाली लता मंगेशकर का जन्म 28 सितंबर 1929 को इंदौर में मशहूर संगीतकार दीनानाथ मंगेशकर के यहां हुआ था।भारत रत्न लता ने अपनी आवाज और अपनी सुर साधना से बहुत छोटी उम्र में ही गायन में महारत हासिल की और विभिन्न भाषाओं में गीत गाए।

Lata Mangeshkar Birthday- आज है भारत की  सुर साम्राज्ञी लता मंगेशकर का जन्मदिन

आज इतिहास के साथ 28 सितंबर का बड़ा सुरीला रिश्ता है। अपनी मधुर आवाज से पिछले कई दशक से संगीत के खजाने में हर दिन नये मोती भरने वाली लता मंगेशकर का जन्म 28 सितंबर 1929 को इंदौर में मशहूर संगीतकार दीनानाथ मंगेशकर के यहां हुआ था।भारत रत्न लता ने अपनी आवाज और अपनी सुर साधना से बहुत छोटी उम्र में ही गायन में महारत हासिल की और विभिन्न भाषाओं में गीत गाए। पिछली पीढ़ी ने जहां लता की शोख और रोमानी आवाज का लुत्फ उठाया, वहीं मौजूदा पीढ़ी उनकी समन्दर की तरह ठहरी हुई परिपक्व गायकी को सुनते हुए बड़ी हुई है| 

 

 


लता मंगेशकर की आवाज और उनकी काबिलियत के चर्चे हर तरफ होने लगे। हर कोई यही कहता कि यह बच्ची एक दिन बहुत आगे जाएगी और पिता का नाम रोशन करेगी। हुआ भी यही। 9 साल की उम्र में लता मंगेशकर ने पहली बार पब्लिक के सामने गाना गाया। उसका किस्सा भी दिलचस्प है। 1930 के आसपास जब लता मंगेशकर के बाबा अपनी थिअटर कंपनी के टूर पर शोलापुर में थे तो कुछ लोगों ने उनसे गाना गाने की रिक्वेस्ट की। लता ने यह सुन लिया। वह बाबा के पास गईं और पूछा कि क्या वह भी उनके साथ गाना गा सकती हैं? बाबा मान गए और बस लता मंगेशकर ने अपनी धमाकेदार परफॉर्मेंस दे डाली।

 

 

जानिए लता मंगेशकर ने शादी क्यों नहीं की 

लता मंगेशकर आजीवन कुंवारी ही रहीं। टाइम्स ऑफ इंडिया को साल 2011 में दिए इंटरव्यू में लता मंगेशकर ने शादी के सवाल के जवाब में कहा था, 'जो कुछ भी होता है भगवान की मर्जी से होता है। जो होता है अच्छे के लिए होता है और जो नहीं होता वो और अच्छे के लिए होता है। अगर आप मुझसे यह बात 4 या 5 दशक पहले पूछते तो शायद कुछ और जवाब मिलता। लेकिन आज शादी को लेकर मेरे मन में ऐसा कोई विचार नहीं है कि हां मेरी भी होनी चाहिए थी।'

 

 

साथ ही आपको बता दे की  लता मंगेशकर ने 20 भाषाओं में 30,000 गाने गाए और अपनी सुरीली आवाज के दम पर लोगों के दिलों में उतर गईं। लता मंगेशकर जैसी सिंगर न तो आज तक कभी हुई है और न ही कभी होगी।