Good Friday 2021 -आज है गुड फ्राइडे जानिए क्यों मानते है ये दिन

आज है गुड फ्राइडे, मसीही समुदाय के लोग चर्च और गिरजाघरों में शाम को आयोजित विशेष प्रार्थना में होंगे शामिल, लोग प्रभु यीशू को याद कर रहे । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी ट्वीट कर मसीही लोगों को बधाई दी और कहा कि यह दिन ईसा मसीह के संघर्षों और बलिदान को याद दिलाता है।

Good Friday 2021 -आज है गुड फ्राइडे जानिए क्यों मानते है ये दिन

आज है गुड फ्राइडे, मसीही समुदाय के लोग चर्च और गिरजाघरों में शाम को आयोजित विशेष प्रार्थना में होंगे शामिल, लोग प्रभु यीशू को याद कर रहे । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी ट्वीट कर मसीही लोगों को बधाई दी और कहा कि यह दिन ईसा मसीह के संघर्षों और बलिदान को याद दिलाता है।

बाइबिल के अनुसार प्रभु यीशु को शुक्रवार की सुबह नौ बजे क्रूस पर चढ़ाया गया और उसी दिन सूर्यास्त से पहले कब्र में रख दिया गया। उस समय प्रभु यीशु की आयु केवल 33 वर्ष की थी। जब प्रभु को क्रूस पर चढ़ाया गया तो उनके बांयी व दायीं ओर एक-एक डाकू भी क्रूस पर लटकाया गया और उनको भी मृत्युदंड दिया जा रहा था। दुनिया को प्रेम, दया और करुणा का देने वाले प्रभु ईसा मसीह को धार्मिक कट्टरपंथियों ने सूली पर टांग दिया था।

 मानव के काल्याण हेतु प्रभु सहर्ष सूली चढ़ गए। सूली पर चढ़ाये जाने के समय भी उनके दिल में करूणा का भाव था। उन्होंने ईश्वर से ऐसा कृत्य करने वालों को क्षमा कर देने की विनती थी। प्रभु को शुक्रवार को ही सूली पर टांगा था। इस कारण इस दिन को गुड फ्राइडे के रूप में मनाया जाता है। मसीही इस दिन शोक मनाते हैं। प्रार्थना करते हैं एवं प्रभु की बलिदानी को स्मरण करते हैं। बड़ी संख्या में लोग गुड फ्राइडे के दिन उपवास भी रखते हैं। मृत्यु के तीसरे दिन रविवार को प्रभु जीवित हो उठेंगे। प्रभु के पुन: जीवित होने का दिन ईसाई धर्म में विशेष महत्व है। इस दिन  ईस्टर पर्व मनाया जाता है। प्रभु के आगमन की खुशियां मनायी जाती है।