केरल एम्बुलेंस | एम्बुलेंस मंगलौर से कोच्चि रिकॉर्ड | आपातकाल: सार्वजनिक समर्थन

एक माह की बच्ची की जान बचाने के लिए एक टैक्सी ड्राइवर ने मानवता की मिसाल पेश करते हुए असंभव काम को भी संभव बना दिया। केरल के एक ड्राइवर ने 500 किमी की दूरी केवल 7 घंटे में तय कर दी।

एक माह की बच्ची की जान बचाने के लिए एक टैक्सी ड्राइवर ने मानवता की मिसाल पेश करते हुए असंभव काम को भी संभव बना दिया। केरल के एक ड्राइवर ने 500 किमी की दूरी केवल 7 घंटे में तय कर दी। लेकिन, यहां मामला एक छोटी बच्ची की जान से संबंधित था तो इस टैक्सी ड्राइवर ने वो काम किया। जो दूसरे ड्राइवर में शायद ही कर सकते थे। जिन्होंने बखुबी तौर पर समय-समय पर रास्ते को क्लियर कराने की भरपूर कोशिश की।