काशी में तैयार हुआ भव्य मणि मन्दिर, धर्मसम्राट करपात्रीजी की थी परिकल्पना मणि मंदिर वाराणसी | ZNDM

सनातन धर्म का पूरी दुनियां में प्रचार प्रसार करने वाले धर्मसम्राट स्वामी करपात्री जी की परिकल्पना अब साकार हो चुकी है । वाराणसी के दुर्गाकुंड स्थित स्वामी करपात्री जी की तपस्थली धर्मसंघ शिक्षा मंडल के प्रांगड़ में भव्य मणि मंदिर का निर्माण पूरा हो गया है ।

सनातन धर्म का पूरी दुनियां में प्रचार प्रसार करने वाले धर्मसम्राट स्वामी करपात्री जी की परिकल्पना अब साकार हो चुकी है । वाराणसी के दुर्गाकुंड स्थित स्वामी करपात्री जी की तपस्थली धर्मसंघ शिक्षा मंडल के प्रांगड़ में भव्य मणि मंदिर का निर्माण पूरा हो गया है । 23 फरवरी से मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह का आयोजन किया गया है जिसमे 25 लाख मंत्रों के बीच 33 हवन कुंडों में आहुतियां दी जाएगी। 28 फरवरी को भव्य समारोह के साथ विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा होगी।43 हजार वर्गफीट में बने इस मंदिर के मुख्य गर्भगृह में भगवान राम,लक्षण जानकी सहित पूरा दरबार विराजमान होगा। इसके साथ ही मंदिर में भक्त स्फटिक के द्वादश ज्योतिर्लिंग के दर्शन भी कर सकेंगे। इन सब के अलावा मंदिर में 151 नंदेश्वर शिवलिंग भी स्थापित है ।धर्मसंघ पीठाधीश्वर स्वामी शंकरदेव चैतन्य ने बताया कि मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा के लिए भव्य कार्यक्रम आयोजित किया गया है जिसमे हवन के साथ भव्य शोभायात्रा और सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तावित है ।