जल्द तैयार रेलवे कोच में 3.2 लाख आइसोलेशन बेड |

कोरोना वायरस वैश्विक महामारी का मार इस वक़्त पूरा विश्व झेल रहा है भारत में भी कोरोना का खतरा  इस वक्त ज्यादा बढ़ गया है औ देश अभी बड़े स्तर पर तैयारियों में जुट चुका है। भारतीय रेलवे अब रेलवे के कोचों को आइसोलेशन वॉर्ड में बदलने जा रहा है जिससे 3.2 लाख से ज्यादा बेड की व्यवस्था हो जाएगी।  संक्रमित लोगों के लिए आइसोलेशन वार्ड बनाने का काम पूरी तेजी से चल रहा है।

कोरोना वायरस वैश्विक महामारी का मार इस वक़्त पूरा विश्व झेल रहा है भारत में भी कोरोना का खतरा  इस वक्त ज्यादा बढ़ गया है औ देश अभी बड़े स्तर पर तैयारियों में जुट चुका है। भारतीय रेलवे अब रेलवे के कोचों को आइसोलेशन वॉर्ड में बदलने जा रहा है जिससे 3.2 लाख से ज्यादा बेड की व्यवस्था हो जाएगी।  संक्रमित लोगों के लिए आइसोलेशन वार्ड बनाने का काम पूरी तेजी से चल रहा है। इससे पहले भी कई हॉस्पिटल तैयार और कई को मंजूरी मिली।
रेलवे  करीब 20 हजार कोचों को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील करेगा। कोच को आइसोलेशन वॉर्ड में तब्दील करने के लिए सशस्त्र बल मेडिकल सेवा, कई जोन के मेडिकल विभाग, आयुष्मान भारत, स्वास्थ्य मंत्रालय से सलाह ली गई है।
रेलवे ने बताया है कि सबसे पहले 5 हजार कोचों को बदला जाना शुरू हो चुका है। इससे 80 हजार बेड तैयार होंगे।
चीन की तरह भारत के ओडिशा में भी 1000 बेड वाला हॉस्पिटल बन रहा है।  आप को बता दे यह कोरोना वायरस के लिए देश का सबसे बड़ा 1000 बेड वाला हॉस्पिटल होगा।
आप को बता पिछले हफ्ते गुजरात में सिर्फ 6 दिन में कुल 2200 बेड के हॉस्पिटल बनाए गए थे। ये हॉस्पिटल अहमदाबाद, राजकोट, सूरत और वडोदरा में बने थे।
 इस वक्त कोरोना से जंग में उद्योगपति भी साथ दे रहे हैं।रिलायंस ने दो हफ्ते में 100 बेड का हॉस्पिटल खुलवाया। यह कोरोना मरीजों के लिए ही तैयार किया गया। इस वक्त महाराष्ट्र कोरोना के सबसे ज्यादा मरीज हैं |