Corona के आढ़ में Quarantine Centre में तेज़ी से बढ़ते दुष्कर्म के मामलें - Inhumanity in Quarantine Centre

Inhumanity in Quarantine Centre...नशे में धुत यह पुलिसकर्मी उनके पास दूसरी मंजिल पर पहुंचा और महिला को हाथ पकड़ कर निचली मंजिलें की ओर जबरदस्ती ले जाने लगा तभी पति-पत्नी ने विरोध किया और नीचे जाने से मना कर दिया। तो पुलिसकर्मी ने महिला के साथ बदसलूकी करना शुरू कर दिया

Corona के आढ़ में Quarantine Centre में तेज़ी से बढ़ते दुष्कर्म के मामलें - Inhumanity in Quarantine Centre
Corona के आढ़ में Quarantine Centre में तेज़ी से बढ़ते दुष्कर्म के मामलें - Inhumanity in Quarantine Centre

Corona के आढ़ में Quarantine Centre में तेज़ी से बढ़ते दुष्कर्म के मामलें - Inhumanity in Quarantine Centre 

2020 में कोरोना के चलते पूरी दुनिया में काफी नुकसान हुआ है, चाहे हम बात करें मनुष्य के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ की या अर्थव्यवस्था में हुई भारी  गिरावट की ,हर दृष्टिकोण से पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है।लेकिन कोरोना के चलते लगे इस lockdown में कुछ सकारात्मक बदलाव भी सामने आये है उनमे से 1 है महिलाओं की सुरक्षा। इन 2 महीनो में पुरे देश में महिला सुरक्षा सर्वोत्तम स्थान पर रही इस बात में तो कोई संदेह नहीं है।Lockdown के इस 2 महीने की अवधी में राजधानी दिल्ली में महिलाओं के साथ दुष्कर्म के रजिस्टर्ड  मामलों में 83% गिरावट आंका गया।
लेकिन अब शुरू हुई गतिविधियों में जब सब कुछ सामान्य होने की और अग्रसर है,तो वहीं देश में फिर से दरिंदो के शर्मनाक इरादे सामने आने लगे है।भारत में महिलाओ से बदसलूखी और दुष्कर्म के मामलो ने ज़ोर पकड़ा है सबसे शर्मनाक यह है की अपने ज़लील इरादों को अनजाम देने के लिए इन दरिंदो ने कोरोना को ही इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है।
हाल ही में उत्तराखंड में क्वॉरेंटाइन सेंटर में महिला के साथ पुलिसवाले की बदसलूकी की खबर सामने आई थी ।असल में इस मामले में अपने पति के साथ क्वॉरेंटाइन सेंटर पहुंची नवविवाहिता के साथ एक पुलिस वाले ने जबरदस्ती करने की कोशिश की। उत्तराखंड में उधमसिंह नगर की किच्छा विधानसभा के पुलभट्टा क्षेत्र में बने क्वॉरेंटाइन सेंटर में नवदंपति बैठे थे तभी नशे में धुत यह पुलिसकर्मी उनके पास दूसरी मंजिल पर पहुंचा और महिला को हाथ पकड़ कर निचली मंजिलें की ओर जबरदस्ती ले जाने लगा तभी पति-पत्नी ने विरोध किया और नीचे जाने से मना कर दिया। तो पुलिसकर्मी ने महिला के साथ बदसलूकी करना शुरू कर दिया और महिला के कपड़े फाड़ने की कोशिश की। जिसके बाद नवविवाहिता के पति के साथ उसकी हाथापाई होने लगी वहीं इस दरमियान मौका पाकर महिला ने खुद को कमरे में बंद कर लिया और जैसे तैसे खुद को बचाया ।फिर इसकी शिकायत स्थानीय थाने में दर्ज कराई गई। जिसके बाद मामले को तूल पकड़ता देख मौके पर पुलिस के सिपाही को बर्खास्त कर दिया गया था।

और अब मुंबई के मालाड पश्चिम से भी ऐसी ही 1 घटना सामने आई।यहां पर भी एक युवती  के साथ क्वॉरेंटाइन सेंटर में छेड़छाड़ किए जाने की घटना हुई। 20 जून को दर्ज FIR के मुताबिक मलाड पश्चिम के क्वॉरेंटाइन सेंटर मुंबई में एक परिवार क्वॉरेंटाइन हुआ था उसके बाद 30 मई को सभी को घर वापस भेज दिया गया। लेकिन 13 जून को उस परिवार की एक युवती को फोन करके आरोपी ने उसे कोरोना पॉजिटिव होने की सूचना दी और उसे क्वॉरेंटाइन सेंटर बुलाया।यही नहीं आरोपी ने खुद का परिचय बृहन्मुंबई मुंसिपल कॉरपोरेशन(BMC) के कार्यकर्ता  कल्पेश नाम के व्यक्ति के रूप में दिया।सूचना मिलने के बाद युवती के पिता उसे क्वॉरेंटाइन सेंटर पहुंचा कर वापस चले गए। इसके बाद युवती कमरे में थी तभी उसके कमरे में अमित तटकरे नाम का एक युवक आया और उससे कहा कि तुम कोरोना पॉजिटिव नहीं हो तुम्हें कल सुबह घर वापस छोड़ दिया जाएगा।इस पर युवती के विरोध जताने पर उसके साथ बदसलूकी किया गया।