हो जाइए सावधान अगर डाकघर के बचत खाते में नहीं हुआ पैसा तो बंद होगा खाता

इस बदलते परिवेश में अब डाकघर में कई बदलाव आए हैं। इस दौरान डाकघर के सम्बन्ध में एक अहम बदलाव किया गया है दरअसल पहले के नियमो में बदलाव करते हुवे अब डाकघर में भी बैंकों की तरह न्यूनतम बैलेंस रखना ही होगा..

हो जाइए सावधान अगर डाकघर के बचत खाते में नहीं हुआ पैसा तो बंद होगा खाता

 

इस बदलते परिवेश में अब डाकघर में कई बदलाव आए हैं। इस दौरान डाकघर के सम्बन्ध में एक अहम बदलाव किया गया है दरअसल पहले के नियमो में बदलाव करते हुवे अब डाकघर में भी बैंकों की तरह न्यूनतम बैलेंस रखना ही होगा। और अगर बेलेंस कम रहा तो खाते की धनराशि से कटौती कर ली जाएगी। पहले डाकघर में बचत खाते के लिए न्यूनतम बैलेंस की कोई बाध्यता नहीं थी। इसलिए सबसे अधिक बचत खाते डाकघर में ही खोले जाते हैंं। और अब  डाकघर मे न्यूनतम बैलेंस 500 होगी | सबसे बड़ी बात की डाकघर के बचत खाते में यदि जीरो बैलेंस हुवा तो उपभोक्ता को इस बात की जानकारी दिए बिना खाते को बंद किया जा सकता है | अनुमान लगाया जा रहा है की वाराणसी के प्रमुख डाकघरों में उपभोक्ताओं ने बेलेंस काफी कम रखे होंगे और यदि खातों में निर्धारित धन राशि जमा नहीं हुई तो  बंद Zero balance हो सकती है |  ये नया नियम 12 दिसंबर से लागू हो गई है इस नए नियम के अनुसार न्यूनतम बैलेंस 500 रुपये से कम होने पर रख रखाव के रूप में 100 रुपये प्रतिवर्ष काट लिए जाएंगे। अनुमानतः जिले में कुल शाखा डाकघर- 110  उप डाकघर- 24 और  कुल डाकिया-175 है |