दिल्ली हिंसा: आईबी अधिकारी अंकित शर्मा के परिजनों ने आम आदमी पार्टी के पार्षद पर लगाया गंभीर आरोप

दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले में पिछले कई दिनों से जारी हिंसा में आइबी (इंटेलीजेंस ब्यूरो) के जवान अंकित शर्मा की हत्या के मामले में एक नया पेंच निकलकर सामने आ रहा है। । अब उनकी मौत के पीछे आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन की भूमिका संदिग्ध बताई जा रही है।

दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले में पिछले कई दिनों से जारी हिंसा में आइबी (इंटेलीजेंस ब्यूरो) के जवान अंकित शर्मा की हत्या के मामले में एक नया पेंच निकलकर सामने आ रहा है। ।
अब उनकी मौत के पीछे आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन की भूमिका संदिग्ध बताई जा रही है।
हालांकि वह पुलिस से बचते फिर रहे हैं और अपने किसी रिश्तेदार के घर से ताहिर ने वीडियो जारी कर खुद पर लगे सभी आरोपों को गलत बताया है। अंकित के परिजन ये आरोप लगाया है  कि दंगाइयों ने पत्थरबाजी करते हुए अंकित व उनके साथ तीन अन्य लोगों को भी भीड़ में खींच लिया। परिजनों के मुताबिक, कथित रूप से स्थानीय आप पार्षद ताहिर की बिल्डिंग में ले जाकर उनकी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।
आप पार्षद ताहिर राजनीति में भले ही जाना माना नाम नहीं हैं लेकिन पूर्वोत्तर दिल्ली में शाहदरा, नेहरू नगर, चांदबाग के इलाके में उनका बहुत रसूख है। मुसलमानों के बीच इनकी पैठ है। चुनाव के दौरान भरे गए हलफनामे के अनुसार ताहिर 2017 में निर्वाचन क्षेत्र 059-E-नेहरू विहार (पूर्वी दिल्ली) से आप के टिकट पर पार्षद बने।
वह करावल नगर के नेहरू विहार में रहते हैं। चुनावी हलफनामे के अनुसार वह व्यवसायी हैं और 18 करोड़ की घोषित संपत्ति है। उनके खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है। ताहिर ने आठवीं पास हैं और नेशनल ओपन स्कूल से दसवीं की पढ़ाई कर रहे हैं। हालांकि यह जानकारी उन्होंने 2017 में दी थी तो उसके अनुसार उनकी पढ़ाई पूरी हो गई होगी।