जय श्री राम के नारों के बीच मैं डरी नहीं', हिजाब मुद्दे पर भगवा पट्टे पहने युवकों से घिरी लड़की ने सुनाई आपबीती

कर्नाटक (Karnataka) के मांड्या प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज (Mandya pre-University college) में हिजाब पहनी छात्रा मुस्कान (Muskan) ने आज भगवा दुपट्टा पहने युवाओं के एक बड़े गुट का अकेले सामना करने पर कहा कि "वो चिंतित नहीं थी" और वह हिजाब पहनने के अपने अधिकार के लिए लड़ती रहेगी

जय श्री राम के नारों के बीच मैं डरी नहीं', हिजाब मुद्दे पर भगवा पट्टे पहने युवकों से घिरी लड़की ने सुनाई आपबीती

कर्नाटक (Karnataka) के मांड्या प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज (Mandya pre-University college) में हिजाब पहनी छात्रा मुस्कान (Muskan) ने आज भगवा दुपट्टा पहने युवाओं के एक बड़े गुट का अकेले सामना करने पर कहा कि "वो चिंतित नहीं थी" और वह हिजाब पहनने के अपने अधिकार के लिए लड़ती रहेगी. दरअसल, सोशल मीडिया पर वायरल हो रही वीडियो में मुस्कान को नारेबाजी करते भगवा स्कार्फ पहने युवकों के बीच घिरा देखा जा सकता है, लेकिन इस दौरान वह उनके खिलाफ जमकर डटी रही. 

 

 

जैसे ही युवकों का गुट "जय श्री राम" के नारे लगाते हुए छात्रा की ओर बढ़ता है, मुस्कान वापस चिल्लाती है, "अल्लाह हू अकबर!" और चिल्लाती हुई क्लास की ओर बढ़ जाती है. लड़कों का समूह उसके पीछे जाता दिखता है. इस बीच कॉलेज का स्टाफ लड़कों को रोकता हुआ दिखता है और लड़की को साथ ले जाता हुआ दिखता है. 

 

 

एनडीटीवी से बातचीच करते हुए मुस्कान ने कहा, "मैं बिलकुल चिंतित नहीं थी. हकीकत में हुआ ये कि मैं अपने असाइनमेंट जमा कराना चाहती थी, इसलिए मैंने कॉलेज में प्रवेश किया, लेकिन वो मुझे कॉलेज के अंदर प्रवेश करने की अनुमति नहीं दे रहे थे, क्योंकि मैंने बुर्का पहना हुआ था. हालांकि, किसी न किसी तरह से मैं अंदर आ गई, जिसके बाद वो मेरे सामने चिल्लाने लगे, जय श्री राम के नारे लगाने लगे. उसके बाद मैंने अल्लाह हू अकबर चिल्लाना शुरू कर दिया. भीड़ में सिर्फ 10 प्रतिशत लड़के कॉलेज के थे और बाकि सभी बाहर के थे. स्कूल के प्रिंसिपल और अध्यापकों ने मुझे सपोर्ट किया और भीड़ से मेरी सुरक्षा की."

 

 

मुस्कान ने कहा, "यह पिछले हफ्ते ही शुरू हुआ था. हम हर समय बुर्का और हिजाब पहनते थे. मैं क्लास में हिजाब पहनती थी और बुर्का उतार देती थी. हिजाब हमारा एक हिस्सा है. प्रिंसिपल ने कभी कुछ नहीं कहा. बाहरी लोगों ने इसे शुरू किया है. प्रिंसिपल ने हमें बुर्का नहीं ले जाने की सलाह दी है. हम हिजाब के लिए विरोध करना जारी रखेंगे. यह मुस्लिम लड़की होने का एक हिस्सा है. मेरे हिंदू दोस्तों ने मेरा समर्थन किया. मैं सुरक्षित महसूस करती हूं. सुबह से, हर कोई मुझसे कह रहा है कि हम आपके साथ हैं."

 

 

बता दें कि कर्नाटक भर के कॉलेजों में एक तरफ हिजाब पहनी छात्रों को और दूसरी तरफ युवकों को भगवा स्कार्फ पहने हुए विरोध प्रदर्शन करते हुए देखा जा रहा है. उडुपी के गवर्नमेंट गर्ल्स पीयू कॉलेज में पिछले महीने विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ था, जब छह छात्रों ने आरोप लगाया कि उन्हें हिजाब पर जोर देने के लिए कक्षाओं में प्रवेश से रोक दिया गया. इसके बाद विरोध उडुपी और मांड्या और शिवमोग्गा जैसे अन्य शहरों में फैल गया. स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री ने राज्य के सभी स्कूल-कॉलेजों को तीन दिन तक बंद रखने का ऐलान किया है. उधर, इस मामले को लेकर हाईकोर्ट में भी सुनवाई चल रही है.