Hrithik Roshan : मुंबई पुलिस कार्यालय में ऋतिक रोशन फेक ई-मेल केस में बयान दर्ज कराने पहुंचे

एक्टर ऋतिक रोशन आज अपना बयान दर्ज कराने मुंबई पुलिस कमिश्नर के दफ्तर पहुंच चुके हैं। आपको बता दें कि कंगना रनौत से जुड़े फर्जी ई-मेल केस में बीते दिन मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच यूनिट द्वारा एक्टर को समन गय़ा था। समन में उन्हें 27 फरवरी को पेश होने के लिए कहा गया था। इसी कारण आज वह अफसरों के सामने हाजिर होने के लिए उनके दफ्तर पहुंचे हैं।

Hrithik Roshan : मुंबई पुलिस कार्यालय में ऋतिक रोशन फेक ई-मेल केस में बयान दर्ज कराने पहुंचे

एक्टर ऋतिक रोशन आज अपना बयान दर्ज कराने मुंबई पुलिस कमिश्नर के दफ्तर पहुंच चुके हैं। आपको बता दें कि कंगना रनौत से जुड़े फर्जी ई-मेल केस में बीते दिन मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच यूनिट द्वारा एक्टर को समन गय़ा था। समन में उन्हें 27 फरवरी को पेश होने के लिए कहा गया था। इसी कारण आज वह अफसरों के सामने हाजिर होने के लिए उनके दफ्तर पहुंचे हैं।

मीडिया में आई ताजा तस्वीर में देखा सकते हैं कि ब्लैक टी-शर्ट, फेस मास्क और कैप पहने हुए ऋतिक मुंबई पुलिस कमिश्नर का दफ्तर पहुंचे हैं। आज पुलिस उनसे कंगना को भेजे को फर्जी ई-मेल के केस में उनका बयान दर्ज करेगी।

इस केस में शुरुआती जांच में पाया गया कि कंगना की आईडी से कथित तौर पर ऋतिक रोशन को ईमेल किए गए हैं। इसके बाद कंगना का बयान दर्ज किया गया। हालांकि, ऑफिसर ने बताया कि कंगना ने ऋतिक को ईमेल भेजने की बात से इनकार किया है। ऑफिसर ने बताया कि ऋतिक ने अपना मोबाइल और लैपटॉप सब्मिट किया था, लेकिन उनमें कुछ नहीं मिला। ये मेल्स साल 2013 से 2014 के बीच भेजे गए थे। इसके बाद साल 2016 में ऋतिक ने कंगना रनौत को लीगल नोटिस भेजा।

बताते चलें कि कुछ समय पहले ऋतिक के वकील महेश जेठमलानी ने मुंबई पुलिस कमिश्नर को एक लेटर लिखकर शिकायत की थी कि केस में कोई प्रगति नहीं हुई है। इसके बाद केस को पिछले साल दिसंबर में क्राइम ब्रांच के क्रिमिनल इंटेलिजेंस यूनिट (सीआईयू) को ट्रांसफर कर दिया गया था।

कंगना का आरोप है कि ऋतिक उन्हें आपत्तिजनक ई-मेल्स भेजा करते थे जबकि कृष एक्टर का आरोप है कि उनके फर्जी ई-मेल आईडी से कंगना को ये संदेश भेजे गए। इसी मामले को लेकर अब क्राइम ब्रांच की टीम जांच में जुटी हुई है। ये केस साल 2016 का है, जो कि हाल ही में साइबर सेल से क्राइम ब्रांच इंटेलिजेंस यूनिट में शिफ्ट किया गया था।