गृह मंत्रालय का बड़े ऐक्‍शन की तैयारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पंजाब में सुरक्षा चूक पर जांच समिति का गठन

पंजाब में PM के काफिले को 15 मिनट रोके जाने का मामला काफी तूल पकड़ता जा रहा है इन सबके बीच देश भर में भाजपा नेताओं ने प्रधानमंत्री के दीर्घायु होने की कामना करने हुए मंदिरों में पूजा-अर्चना की और महामृत्युंजय मंत्र का जाप भी किया।कही कही पर पंजाब के मुख्यमंत्री और कांग्रेस हाय हाय की नारे लगाई जा रही है

गृह मंत्रालय का बड़े ऐक्‍शन की तैयारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पंजाब में सुरक्षा चूक पर जांच समिति का गठन

पंजाब में PM के काफिले को 15 मिनट रोके जाने का मामला काफी तूल पकड़ता जा रहा है इन सबके बीच देश भर में भाजपा नेताओं ने प्रधानमंत्री के दीर्घायु होने की कामना करने हुए मंदिरों में पूजा-अर्चना की और महामृत्युंजय मंत्र का जाप भी किया।कही कही पर पंजाब के मुख्यमंत्री और कांग्रेस हाय हाय की नारे लगाई जा रही है और इसी क्रम में गृह मंत्रालय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फिरोजपुर (पंजाब) की यात्रा के दौरान सुरक्षा व्यवस्था में गंभीर चूक की जांच के लिए एक समिति का गठन कर दिया है।

बुधवार को फिरोजपुर में एक राजनीतिक रैली को संबोधित करने के दौरान पीएम मोदी पंजाब के बठिंडा में एक फ्लाईओवर पर करीब 20 मिनट तक फंसे रहे। इसे सुरक्षा में चूक का बड़ा मामला माना जा रहा है। इस घटना ने भाजपा और राज्य की सत्ताधारी कांग्रेस के बीच एक बड़ा राजनीतिक टकराव पैदा कर दिया और मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया। पंजाब सरकार ने इसकी जांच के आदेश दे दिए हैं। इस तीन सदस्यीय समिति का नेतृत्व सुधीर कुमार सक्सेना, सचिव (सुरक्षा), कैबिनेट सचिवालय करेंगे। इसमें बलबीर सिंह, संयुक्त निदेशक, आईबी और एस सुरेश, आईजी, एसपीजी शामिल होंगे। समिति को जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है।

दअरसल आप को बतादे पीएम फिरोजपुर में कई विकास परियोजनाओं की नींव रखने वाले थे। इस दौरान पीएम को हुसैनीवाला शहीद स्मारक भी जाना था। 
 लेकिन खराब मौसम के कारण उन्होंने हेलिकॉप्टर की जगह सड़क मार्ग से वहां पहुंचना चाहा। लेकिन प्रधानमंत्री जैसे ही फ्लाईओवर पर पहुंचे प्रदर्शनकारियों ने वहा पर पहले से ही रास्ता रोक रखा था। जिसके कारण उनकी गाड़ी को रोकना पड़ा। हुसैनीवाला के राष्ट्रीय शहीद मेमोरियल से 30 किलोमीटर दूर जैसे ही पीएम मोदी का काफिला फ्लाईओवर पर पहुंचा तो वहां कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क को जाम कर रखा था। इस दौरान पीएम मोदी वहां 15-20 मिनट तक जाम में फंसे रहे।  

और अब पीएम के काफिले में सुरक्षा सेंध के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से इस बारे में रिपोर्ट मांगी है। प्रदर्शन के कारण लंबा जाम लग गया था। पुलिस के जवान जरूर वहां खड़े थे लेकिन वो प्रदर्शनकारियों को हटाने में सफल नहीं हुए। सुरक्षा में सेंध के बाद पीएम मोदी वापस बठिंडा एयरपोर्ट लौट गए।