गणपति महोत्सव को लगी कोरोना की नजर नहीं मनाया जाएगा इस साल पर्व

वैश्विक कोरोना महामारी ने देश दुनिया को अपने चपेट में ले रखा है और हर देश इस भयंकर महामारी को मात देने के लिए हर संभव कोशिश कर रहा है

गणपति महोत्सव को लगी कोरोना की नजर नहीं मनाया जाएगा इस साल पर्व

गणपति महोत्सव को लगी कोरोना की नजर नहीं मनाया जाएगा इस साल पर्व 

वैश्विक कोरोना महामारी ने देश दुनिया को अपने चपेट में ले रखा है और हर देश इस भयंकर महामारी को मात देने के लिए हर संभव कोशिश कर रहा है और अब भारत में कोरोना का सबसे ज्यादा संक्रमण महाराष्ट्र में  हो चुका है  महाराष्ट्र में  कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्‍या बढ़कर 52667 तक पहुंच गई है। इस महामारी के कारण राज्‍य में अब तक कुल 1695 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 15786 से ज्यादा स्‍वस्‍थ हो चुके हैं। मुंबई में भी संक्रमितों की कुल संख्‍या 31,789 तक पहुंच चुकी है और अब तक 1026 लोगों की मौत दर्ज की गयी है। 

इसके साथ ही आप को बता दे महाराष्ट्र में धूमधाम से मनाये जाने वाले गणपति उत्‍सव  इस बार नहि मनाया जाएगा  सोमवार को शहर के सबसे धनी गणपति मंडलों में से एक, वडाला के गौड़ सारस्वत ब्राह्मण सर्वजन गणेशोत्सव समिति ने कोविड-19 के प्रकोप के कारण फरवरी 2021 तक गणेश चतुर्थी समारोह को स्थगित करने की घोषणा की। महाराष्ट्र में प्रति वर्ष मनाया जाने वाला गणेशोत्सव यहां के महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है। दस दिन तक चलने वाले इस समारोह में घर-घर में गणपति विराजते हैं और हर जगह-जगह सार्वजनिक रूप से भी समारोह का आयोजन किया जाता है। लोग बड़े श्रद्धा भाव के साथ गणपति जी की पूजा-अर्चना करते हैं।      

आप को बता दे  महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने भी कोरोना संक्रमण के चलते पुणे के मंडलों द्वारा आगामी गणेशोत्सव धूमधाम से नहीं मनाने का फैसला लिए जाने का स्वागत किया था। उपमुख्यमंत्री पवार ने विश्वास जताया था कि मुंबई और राज्य के अन्य हिस्सों में भी मंडल मौजूदा महामारी को देखते हुए ऐसा ही निर्णय लेंगे।