Pappu Yadav Arrested : पूर्व सांसद पप्पू यादव को लॉकडाउन उल्लंघन में अरेस्ट , उठे कई सवाल

जहां एक तरफ कोरोना के चलते देश में हाहा कार मचा हुआ है वहीं मौत के आंकड़े भी लगातार आसमान छू रहे हैं। जहां श्मशानों में लाश जलाने के लिए लकडिया कम पड़ रही है वही कई लोग अभी भी ऑक्सीजन की जमाखोरी और दवाइयों की कालाबाजारी में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

Pappu Yadav Arrested : पूर्व सांसद पप्पू यादव को लॉकडाउन उल्लंघन में अरेस्ट , उठे कई सवाल

जहां एक तरफ कोरोना के चलते देश में हाहा कार मचा हुआ है वहीं मौत के आंकड़े भी लगातार आसमान छू रहे हैं। जहां श्मशानों में लाश जलाने के लिए लकडिया  कम पड़ रही है वही कई लोग अभी भी ऑक्सीजन की जमाखोरी और दवाइयों की कालाबाजारी में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। 

कई जगह सूरते हाल ऐसा है कि देश के नामी और बड़े नेता अपने घर के सामने एंबुलेंस की संख्या बढ़ा रहे हैं। और उसको निजी इस्तेमाल में लगा रहे हैं , इसी बीच एक बड़ी खबर आई कुछ दिन पहले बिहार से जहां पर जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने एक मामला उजागर किया।  पप्पू यादव ने राजीव प्रताप रूडी के घर जाकर वहां खड़ी एंबुलेंस की वीडियो बनाई और उस को सार्वजनिक किया। 

जिसके बाद बिहार की राजनीति में एक खलबली सी मच गई , आरोप और प्रत्यारोप का दौर लगातार शुरू हो चुका है। इसके बाद तमाम चैनलो ने इस खबर को बड़ी भूमिका के तौर पर दिखाया और राजीव प्रताप रूडी के सांसद निधि से खरीदी गई एंबुलेंस पर सवालिया निशान खड़े होने लगे। 

इसी बीच बीजेपी की ओर से मांग थी कि पप्पू यादव ने ऐसा क्यों किया और उन्होंने लॉकडाउन का उल्लंघन किया है। उन्होंने न मास्क पहना है और न कोई प्रोटोकोल निभाया है। इसी को लेकर जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव की गिरफ्तारी को लेकर मांग उठने लगी , पूर्व सांसद पप्पू यादव ने एक और ट्वीट करके कहा कोरोना काल में जिंदगी बचाने के लिए अपनी जान हथेली पर रखकर जूझना अपराध है तो हमें अपराधी हूं , प्रधानमंत्री साहब , सीएम साहब दे दो फांसी या भेज दो जेल। 

बताया जा रहा है कि पूर्व सांसद पप्पू यादव को लॉकडाउन उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रुडी के सांसद निधि से खरीदी गई एंबुलेंस की पोल खुलने के बाद सारण के अमनौर में पप्पू यादव के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन का केस दर्ज कर लिया गया था.

पप्पू यादव पर अमनौर के अंचलाधिकारी ने लॉकडाउन उल्लंघन के मामले में रविवार को अमनौर थाना में एफआईआर दर्ज कराई थी. शिकायत में पप्पू यादव पर विश्वप्रभा सामुदायिक केंद्र में काफिले के साथ पहुंचकर लॉकडाउन का उल्लंघन का आरोप लगाया गया था. इससे पहले शनिवार को पप्पू यादव पर एंबुलेंस में तोड़फोड़ के आरोप में केस दर्ज किया गया था.

लॉकडाउन उल्लंघन के केस पर पप्पू यादव ने कहा था कि यह राजनीति से प्रेरित है, क्योंकि जब हम गए तो वहां हमने शांतिपूर्ण तरीके से चीजों को उजागर कियास उस वक्त केस करने वाले लड़के मौजूद भी नहीं थे, इस मामले की सच्चाई के लिए आईजी के नेतृत्व में जांच हो, घटना के 24 घंटे बाद एफआईआर दर्ज की गई, यह घटना के तुरन्त बाद क्यों नहीं?