किसान कल देश में करेंगे चक्का जाम,प्रशासन ने शुरू की तैयारी

किसान आंदोलन इन दिनों तूल पकड़ता जा रहा है और लगातार किसान सरकार के द्वारा गए किसान कानून को ले कर आंदोलन रत है नए कृषि कानूनों के खिलाफ देश की राजधानी दिल्ली में करीब ढाई माह से किसान आंदोलन करते जा रहे |

किसान कल देश में करेंगे चक्का जाम,प्रशासन ने शुरू की तैयारी

 

किसान आंदोलन इन दिनों तूल पकड़ता जा रहा है और लगातार किसान सरकार के द्वारा गए किसान कानून को ले कर आंदोलन रत है नए कृषि कानूनों के खिलाफ देश की राजधानी दिल्ली में करीब ढाई माह से किसान आंदोलन करते जा रहे | लेकिन अब तक किसान कानून को ले कर कोई बदलाव की सुचना नहीं मिली इस बीच खबर सामने आ रही है की  किसान कल दिल्ली को छोड़कर एनसीआर समेत देश भर में चक्का जाम करेंगे और  भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि जो लोग यहां नहीं आ पाए वो अपने-अपने जगहों पर कल चक्का जाम शांतिपूर्ण तरीके से करेंगे। ये जाम दिल्ली में नहीं होगा।

किसानो के द्वारा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में 12 से दोपहर 3 बजे तक किसान चक्का जाम करने की घोषणा की है। इस जानकारी के बाद प्राशसन ने भी अपनी कमर कस ली है और तैयारी में जुट चुका है | 26 जनवरी को हुवे आंदोलन के बाद से दिल्ली पुलिस काफी सतर्क हो चुकी है और कल चक्का जाम की सुचना पर चक्का जाम वाले जगहों पर पुलिस की फोर्स भी लगा दी गई है | इस पर दिल्ली पुलिस अधिकारियों का कहना है कि चक्का जाम को लेकर हमसे किसी भी किसान नेता ने संपर्क नहीं किया है, लेकिन दिल्ली, यूपी और हरियाणा पुलिस इसको लेकर काफी गंभीर है।
 
एक समाचार पत्र के अनुसार किसानों के चक्का जाम करने से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने चक्का जाम के पहले दिल्ली पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव के साथ गुरुवार को बैठक की। इस बारे में सूत्रों मिली जानकारी के अनुसार, श्रीवास्तव ने शनिवार को किसान यूनियनों द्वारा आहूत चक्का जाम के मद्देनजर उठाए गए एहतियाती कदम और शहर में सुरक्षा की स्थिति से केंद्रीय गृह मंत्री को अवगत कराया है । कल हो रहे चक्का जाम को लेकर स्थानीय पुलिस ने तैयारी पूरी कर ली है|
वही हरियाणा के डीजीपी मनोज यादव ने बताया कि एसपी जिलों में किसानों से बात कर रहे हैं ताकि कहीं कोई दिक्कत न हो। उन्होंने बताया कि पुलिस की ओर से ट्रैफिक एडवाइजरी भी जारी की जाएगी। इससे लोगों को घर से निकलने से पहले यह पता रहेगा कि उन्हें किस रूट से जाना है।